Breaking News
Download App
:

HIV AIDS: इस राज्य के 800 से ज्यादा छात्र HIV पॉजिटिव, 47 की मौत

top-news

HIV AIDS:पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा में 828 छात्र एचआईवी पॉजिटिव पाए गए हैं। जिनमें से 47 की मौत हो चुकी है। यह खबर त्रिपुरा राज्य एड्स नियंत्रण सोसाइटी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक त्रिपुरा

अगरतला। HIV AIDS:पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा में 828 छात्र एचआईवी पॉजिटिव पाए गए हैं। जिनमें से 47 की मौत हो चुकी है। यह खबर  त्रिपुरा राज्य एड्स नियंत्रण सोसाइटी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक त्रिपुरा में एचआईवी पॉज़िटिव पाए गए कई छात्र देशभर अलग-अलग संस्थानों में पढ़ने के लिए भी निकले हैं। 


HIV AIDS: वरिष्ठ अधिकारी ने इस मामले पर जानकारी देते हुए कहा, हमने अब तक 828 छात्रों की एचआईवी पॉजिटिव के तौर पर पहचान की है। जिनमें से खतरनाक संक्रमण के कारण 47 छात्रों की जान जा चुकी है। कई छात्र देश भर के प्रतिष्ठित संस्थानों में उच्च शिक्षा के लिए त्रिपुरा से बाहर चले गए हैं।



HIV AIDS: ऐसे सामने आया चौंकानें वाला आंकड़ा


दरअसल त्रिपुरा एड्स नियंत्रण सोसाइटी ने 220 स्कूलों और 24 कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में ऐसे छात्रों की पहचान की है जो इंजेक्शन के ज़रिए नशीली दवाएं लेते हैं। जिससे एचआईवी एक दूसरे तक पहुंचा। 

HIV AIDS: एचआईवी के प्रभाव


एचआईवी शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर करता है, जिससे अन्य संक्रमण और बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। समय पर इलाज न होने पर यह एड्स का कारण बन सकता है।




त्रिपुरा में एचआईवी/एड्स की स्थिति: मुख्य बिंदु

    1. Total HIV Positive Students:

      • 828 students in Tripura have been found HIV positive.
    2. Death Toll:

      • Out of these, 47 students have died due to HIV-related complications.
    3. Cause of Infection:

      • The primary cause of HIV infection is the use of injectable drugs.
    4. Identified Institutions:

      • 220 schools and 24 colleges/universities have been identified where students are using injectable drugs.
    5. Data Sources:

      • TSACS collected data from 164 health facilities across the state.
    6. Impact of HIV:

      • HIV weakens the immune system, making the body vulnerable to other infections and diseases. Without timely treatment, HIV can progress to AIDS.
    7. Necessary Actions:

      • Immediate steps are needed to increase awareness about HIV/AIDS and to curb the use of injectable drugs among students.



टीएसएसीएस के संयुक्त निदेशक ने एएनआई को बताया, अब तक 220 स्कूलों और 24 कॉलेजों और विश्वविद्यालयों की पहचान की गई है, जहां के छात्र नशीली दवाओं का यूज कर रहे हैं। हमने राज्य भर में कुल 164 स्वास्थ्य सुविधाओं से डेटा जमा किया है।


क्या है HIV 

एचआईवी यानी ह्यूमन इम्यूनोडेफिसिएंसी वायरस (Human Immunodeficiency Virus) एक ऐसा वायरस है, जो शरीर के इम्यून सिस्टम पर हमला करता है और उसे इतना कमजोर बना देता है कि हमार शरीर किसी दूसरे संक्रमण या बीमारी को झेलने के काबिल ही नहीं बचती है। वहीं, एक बार इस वायरस की चपेट में आने पर अगर समय रहते इसे काबू में नहीं किया गया, तो ये एड्स का कारण बन जाता है।