Breaking News
Download App
:

Gautam Gambhir: गौतम गंभीर के नेतृत्व में देखने मिल सकते है ये पांच बड़े बदलाव, अपनी शर्तों पर तय करेंगे टीम का भविष्य

top-news

भारत ने नौ साल में पांच मुख्य कोच नियुक्त किए हैं। जिसमें रवि शास्त्री, अनिल कुंबले और राहुल द्रविड़ जैसे दिग्गजों ने कोच की भूमिका निभाई है।

Gautam Gambhir: खेल डेस्क: भारतीय क्रिकेट टीम ने साल 2015 के बाद से पूर्व क्रिकेटरों को टीम के मुख्य कोच के पद के लिए प्राथमिकता दी है। भारत के लिए आखरी विदेशी कोच डंकन फ्लेचर थे। भारत ने नौ साल में पांच मुख्य कोच नियुक्त किए हैं। जिसमें रवि शास्त्री, अनिल कुंबले और राहुल द्रविड़ जैसे दिग्गजों ने कोच की भूमिका निभाई है। मगर राहुल द्रविड़ ही बतौर मुख्य कोच खिताब जीतने में सफल रहे। आने वाले कुछ सालों में भारतीय टीम कई आईसीसी टूर्नामेंट में हिस्सा लेगी और सबकी नजरें अब गौतम गंभीर पर होंगी। पिछले तीन साल से द्रविड़ की देखरेख में भारतीय टीम ने काफी उपलब्धियाँ हासिल की हैं, लेकिन द्रविड़ और गंभीर के काम करने के तरीके में काफी अंतर है। यहाँ 5 बड़े बदलाव जो गौतम गंभीर की कोचिंग के दौरान देखने को मिल सकती हैं. 

Gautam Gambhir: आक्रामक रुख: राहुल द्रविड़ की देखरेख में भारतीय टीम काफी शांत नजर आती थी। हालांकि गंभीर की कोचिंग शैली में आक्रामकता झलकती है और इससे टीम के प्रदर्शन पर भी असर पड़ेगा।



Gautam Gambhir: टीम से जुड़े फैसलों पर अधिकार: पिछले कुछ सालों में भारतीय टीम के कप्तानों ने टीम को अपने तरीके से संभाला है। द्रविड़ ने मैदान के फैसले पूरी तरह रोहित पर छोड़े थे। गंभीर ने अपनी शर्तों में टीम का नियंत्रण मांगा था, इसलिए कप्तानों को गंभीर के साथ मिलजुलकर काम करना होगा।




Gautam Gambhir: युवाओं पर अधिक भरोसा: भारतीय टीम बदलाव के दौर से गुजर रही है और गौतम गंभीर के कोच बनने के बाद युवाओं को अधिक मौके मिलेंगे। गंभीर आने वाले सालों में युवाओं पर दांव खेल सकते हैं, जबकि द्रविड़ पुराने अनुभवी खिलाड़ियों पर भरोसा करते थे।


Gautam Gambhir: हर फॉर्मेट के लिए अलग-अलग टीम: भारतीय टीम ने ज्यादातर बार सभी फॉर्मेट के लिए एक ही कप्तान के साथ काम किया है। गंभीर के कार्यकाल के दौरान इसमें बदलाव हो सकता है। रोहित शर्मा टी20 इंटरनेशनल से संन्यास ले चुके हैं, इसलिए नए टी20 कप्तान का ऐलान जल्द हो सकता है। वनडे और टेस्ट में रोहित टीम के कप्तान बने रहेंगे।




Gautam Gambhir: खिलाड़ियों को अधिक मौके: गंभीर अपने टीम के साथियों का समर्थन करने के लिए जाने जाते हैं। कोचिंग करियर में, जिन खिलाड़ियों में कुछ खास करने की क्षमता होगी, उन्हें अधिक मौके मिल सकते हैं। द्रविड़ शांत और सौम्य इंसान हैं, जबकि गंभीर मुखरता से बात रखने के लिए जाने जाते हैं।