Breaking News

जांजगीर कोल डिपो निरस्त करने जिला पंचायत सदस्य ने भेजा पर्यावरण संरक्षण मंडल को शिकायत

 

सौरभ थवाईत/चांपा: सिवनी चांपा कोरबा रोड में संचालित जय माता दी कोल डिपो का अनुमति निरस्त करने की मांग को लेकर जिला पंचायत सदस्य उमा राजेंद्र राठौर ने क्षेत्रीय पर्यावरण संरक्षण मंडल बिलासपुर को पत्र लिखा है वहीं मुख्य रूप से सात विदुओं पर शिकायत पर कड़ी कार्यवाही की मांग किया है.

 

 

जिला पंचायत सदस्य ने पर्यावरण संरक्षण मंडल को प्रस्तुत शिकायत में बताया कि चापा तहसील अंतर्गत ग्राम पंचायत सिवनी स्थित कोरबा रोड में संचालित जय माता दी कोल डिपो संचालन किया जा रहा है किसानों के शिकायत को गंभीरता से लेते हुए जिला पंचायत सदस्य उमा राजेंद्र राठौर ने प्रमुख रूप से सात बिंदुओं पर शिकायत पर कार्रवाई की मांग की है.

 

उन्होंने बताया कि हाईटेंशन लाइन से लगे हुए कोल डिपो का संचालन किया जा रहा है जिससे कभी भी दुर्घटना हो सकती है कोल डिपो कृषि भूमि से घिरा हुआ है जिससे कृषि भूमि पर इसका दुष्प्रभाव पड़ रही है शिकायत में जिला पंचायत सदस्य श्रीमती राठौर ने बताया कि सिंचाई नहर ठीक कॉल डिपो के करीब है जिसके कारण नहर के पानी मे कोयल की काली डस्ट की परत जमा हो रही है वही कोल डिपो के आसपास स्थित निस्तारी तालाब का पानी दूषित हो गई है हवा के साथ उड़ने वाली डस्ट से लोग बहुत परेशान हैं शिकायत में यह भी बताया गया है कि कोल डिपो का संचालक द्वारा शासन के नियमों का धज्जियां उड़ाई जा रही है वहीं दूसरी तरफ देखा जाए तो श्रम विभाग के कानून के तहत कोयला तोड़ने वाले मजदूर का ना तो पंजीयन किया गया है।

और ना ही ई एस आई सी काटा जाता है इनके द्वारा इस तरह की कानून का खुलेआम उल्लंघन किया जा रहा है कोल डिपो संस्थान के बाहर सूचना बोर्ड पर सूचनाए अंकित भी नहीं है कोल डिपो उघोग से फ्यजिटिव डस्ट एनिमेशन के लिए उपयुक्त छिड़काव प्रणाली स्थापित नहीं किया गया है और सड़क के साथ-साथ कोयला भण्डार का क्षेत्र से भारी फ्यजिटिव उत्सर्जन है वही कोल भंणडारण परिसर मे परिवेसी वायु गुणवत्ता निर्धारित सिमा से है इतना ही नहीं बल्कि कोल डीपो उघोग परिसर में रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम भी नहीं लगाई गई है शिकायत की कॉपी छत्तीसगढ़ राज्य सरकार केपर्यावरण मंत्री ओपी चौधरी समेत जिले की कलेक्टर आकाश छिकारा जिला श्रम पदाधिकारी और तहसीलदार चापा को भी भेजी गई है.