Breaking News
Download App
:

Bilaspur News: घुरू, अमेरी, मेंड़्रा खार, छतौना, यदुनंदन नगर, तिफरा में सरकारी जमीन की हो रही है अफरा तफरी, जल्द ही बंदरबाट करने वाले अधिकारी होंगे बेनकाब

top-news

Bilaspur News: घुरू, अमेरी, मेंड़्रा खार, छतौना, यदुनंदन नगर, तिफरा में सरकारी जमीन की हो रही है अफरा तफरी, जल्द ही बंदरबाट करने वाले अधिकारी होंगे बेनकाब

Bilaspur News: शौरभ थवाईत/बिलासपुर। घुरू, अमेरी, मेंड़्रा खार, छतौना, यदुनंदन नगर, तिफरा में सरकारी जमीन की बड़े पैमाने पर अफरा तफरी की जा रही है। भूमाफिया पटवारी और तहसीलदार का ID चला रहा है। इस पूरे मामले में क्षेत्र के राजस्व अधिकारी संदेह के दायरे में है।


Bilaspur News: कलेक्टर की सख्ती के बाद सरकारी जमीन के बंदरबाट का एक से बढ़कर एक मामला सामने आ रहा है। पिछले 20 -25 साल में जितने भी कोटवारी जमीन बिकी है या बैठाया गया है सब सामने आ रहा है। अभी घुरू में लगभग ढाई एकड़ सरकारी जमीन के अफरा तफरी का मामला सामने आया है। हालांकि इसमें कलेक्टर ने जांच बिठा दी है। 


Bilaspur News: जल्द ही बंदरबाट करने वाले अधिकारी बेनकाब होंगे। लेकिन अभी भी कुछ पटवारी, तहसीलदार और भूमाफिया अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे है। Democrecy.in के पास जो जानकारी आई है वह चौंकाने वाला है। एक भूमाफिया पटवारी, तहसीलदार और पूर्व तहसीलदार का ID चला रहा है। यही नहीं उनके ID से सरकारी जमीन में बड़ा खेल कर रहा है। घुरू, अमेरी, मेंड़्रा खार, छतौना, यदुनंदन नगर, तिफरा में सरकारी जमीन को निजी लोगों के नाम पर बिना किसी डर भय के चढ़ाकर माल समेंटने में लगा हुआ है। 


Bilaspur News: चिंता की बात तो ये है कि पटवारी, तहसीलदार का ID उसके पास कैसे आया ? यदि पटवारी और तहसीलदार की सहमति से ID का उपयोग हो रहा है तो जमीन घोटाले में इन अधिकारियों को कितना हिस्सा मिल रहा है। जानकारों की मामले तो इन गांवों में सैकड़ों एकड़ सरकारी और कोटवारी जमीन का बंदरबाट हो चुका है। क्या कलेक्टर इन सभी गांवों के सरकारी और कोटवारी जमीन की जांच करने के लिए टीम का गठन करेंगे