Breaking News

Basant Panchami: बसंत पंचमी पर विद्या की देवी मां सरस्वती को करना चाहते हैं प्रसन्न, तो पूजा में शामिल करें ये चीजें, बना रहेगा माता का आशीर्वाद

Basant Panchami 2023 Mantra:
Basant Panchami 2023 Mantra:
Basant Panchami: हिंदू धर्म में बसंत पंचमी पर्व का विशेष महत्व रखता है. इस दिन विद्या की देवी मां सरस्वती की पूजा की जाती है. बच्चों से लेकर महिलाओं तक के लिए यह पर्व काफी विशेष होता है. इस साल बसंत पंचमी (Basant Panchami 2023) 26 जनवरी दिन गुरुवार को मनाई जाएगी. बता दें कि मां सरस्वती को ज्ञान, बुद्धि, विद्या, कला और मधुर वाणी की देवी माना जाता है. इसलिए विद्यालय से लेकर संस्थानों एवं घरों तक में मां सरस्वती की विधि विधान से पूजा की जाती है.

READ MORE : राशिफल : बुधवार को इन राशियों को मिलेगा बेहद शुभ समाचार, कारोबार में …


ऐसे में आपको बता दें कि कुछ चीजें मां सरस्वती की पूजा में जरूर शामिल करनी चाहिए. क्योंकि उनको शामिल करने से मां सरस्वती आपसे प्रसन्न होती है और आपको ढेर सारा आशीर्वाद देती हैं.कैसे करें बसंत पंचमी की पूजा ?

 

ऐसी मान्यता है कि जो भी व्यक्ति बसंत पंचमी के दिन विधिवत माता की पूजा करता है और उपवास रखता है. देवी मां उस पर अपनी कृपा बरसाती हैं, ऐसे में अगर आप भी चाहते हैं कि मां सरस्वती का आशीर्वाद और कृपा प्राप्त हो, तो आपको  बसंत पंचमी के शुभ दिन पर माता की पूजा आराधना जरूर करनी चाहिए. ऐसे में आपको पूजन सामग्री का विशेष ख्याल रखना चाहिए. तो चलिए आपको बताते हैं.

 

READ MORE : कहीं से भी ढूंढ कर घर के आंगन में लगा लें ये चमत्कारी पौधा, श्री कृष्ण को भी है बेहद प्रिय, महाभारत काल में …


सरस्वती पूजन की पूजा सामग्री
 

बसंत पंचमी के दिन पूजा में कुछ खास चीजें शामिल जरूर करें, ताकि माता की कृपा आप पर बनी रहे. इस सामग्री में  जैसे पीला कमल, गेंदे के पुष्प की माला, चौकी पर बिछाने वाला पीला वस्त्र, कुश का आसन, मां सरस्वती की प्रतिमा. इन चीजों को अनिवार्य रूप से शामिल करना चाहिए.

इन चीजों के अलावा आपको श्री गणेश प्रतिमा, दूर्वा, सुपारी, पीले अक्षत, हल्दी, कुमकुम, आम या मंगिफेरा के पत्ते, कलश, पीले वस्त्र, केसर मिश्रित पीला चंदन, अष्टगंध, गंगाजल, मौली, धूप, कपूर, घी, गेंदे के पुष्प की माला, सफेद या पीला कमल, केसर, नारियल, गुड़, पंचामृत, कलम, पुस्तक, वाद्ययंत्र, केला, सिंदूर, सिक्का, भोग में बेसन के लड्डू, राजभोग, केसर भात, सफेद बर्फी, मालपुआ, बूंदी, सफेद तिल के लड्डू आदि शामिल कर सकते है.

 
इस तरह से आप पूरे विधि-विधान से माँ सरस्वती की पूजा करेंगे ना केवल आपके ज्ञान में वृद्धि होगी बल्कि आपका भाग्य भी खुल जाएगा. माता की कृपा आप पर सदैव बनी रहेगी.   
Join Whatsapp Group