SPECIAL STORYइंडियाक्राइमस्टोरीज इन फोकस

रक्षाबंधन – बहन के गुनहगारों को भाई ने सालो के इंतजार के बाद दी ऐसी दर्दनाक मौत की आप भी…

अविनाश दुबे , रायपुर l उत्तराखंड के नैनीताल जिले के रामनगर से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. एक शख्स की हत्या के इस मामले में हैरानी की बात यह है कि हत्या का आरोपी बदला लेने के लिए 10 साल इंतजार करता रहा. आखिरकार उसे मौका मिला और उसने 2 अगस्त की रात इस हत्या को अंजाम दे दिया. इस मामले का खुलासा तब हुआ, जब एक लापता शख्स की तलाश शुरू की गई और फिर पुलिस को एक लाश मिली. लाश मिलने के बाद पुलिस ने जब जांच पड़ताल शुरू की तो बदले की एक ऐसी कहानी सामने आई, जिसे सुनकर सभी का मुंह खुला का खुला रह गया.

दरअसल सुहैल सिद्दीकी नाम के शख्स ने दलित समाज से जुड़ी एक लड़की को अपने प्रेम जाल में फंसाया और फिर धोखा दे दिया. प्रेमी के धोखे से लड़की इतनी परेशान हुई कि उसने आत्महत्या कर ली थी. तभी से लड़की के भाई के दिल में बदले की आग धधक रही थी.

READ MORE : Raipur Big Breaking : बसंत विहार कॉलोनी में अज्ञात हमलावरों ने चलाई गोली, एक शख्स हुआ घायल

पुलिस ने सुहैल की हत्या के आरोप में भरत आर्या नाम के युवक को पकड़ा. पूछताछ में भरत ने हत्या की वारदात का खुलासा कर डाला. चंद्र के मुताबिक भरत ने बताया कि सुहैल के पिता और उसके पिता की दुकान आस-पास ही थी. इसी के चलते भरत की दोस्ती सुहैल से हो गई. 10 साल पहले भरत की छोटी बहन भी कभी-कभार दुकान आती थी, तभी सुहैल ने उस नाबालिग किशोरी को अपने प्रेमजाल में फंसा लिया. उसने सुहैल से शादी की इच्छा जाहिर की, लेकिन सुहैल मुकर गया. फिर भरत की बहन ने खुदकुशी कर ली थी. उस समय भरत के परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी . आखिरकार कुछ साल पहले भरत की नौकरी भारतीय सेना में लग गई, जिससे उसकी आर्थिक स्थिति भी सुधरने लगी. अब क्या था, जब भरत सेना से छुट्टी पर आया था, तभी सुहैल ने फिर तानेबाज़ी शुरू कर दी, तो भरत से बर्दाश्त नहीं हुआ. लेकिन उसने तैश में नहीं बल्कि बाकायदा स्कीम करके हत्या को अंजाम दिया.

READ MORE :BIG BREAKING : छत्तीसगढ़ के इस जिले में आकाशीय बिजली गिरने से 5 लोगो की मौत…

अपने एक दोस्त के साथ मिलकर सुहैल की हत्या का पूरा प्लान भरत ने तैयार किया. 2 अगस्त की रात सुहैल जैसे ही दुकान बंद कर घर के लिए निकला, तो कुछ दूर खड़े भरत और उसके साथी ने सुहैल की बाइकर को कार से टक्कर मार दी. फिर उन्होंने घायल सुहैल के सिर पर रॉड से वार किया. इतना ही नहीं, भरत और उसके दोस्त ने सुहैल की लाश को कुछ दूर मुरादाबाद रोड पर गन्नों के खेतों के किनारे फेंक दिया और लाश की पहचान न हो सके, इसलिए चेहरे पर पेट्रोल डालकर आग भी लगा दी थी.

Back to top button