Uncategorized

नाली तो बनाई गई, लेकिन नहीं की गई पानी निकासी की व्यवस्था, सीएम हेल्पलाइन में शिकायत के बावजूद नहीं हुआ समस्या का निराकरण

शफीक खान, लांजी। लांजी नगर पंचायत में वार्ड नंबर 12 सबसे बड़ा वार्ड है। इस इस वार्ड के अंतर्गत बालाघाट रोड, भिलाई रोड, आमगांव रोड, और दखनीटोला के वार्डवासी आते हैं वहीं बालाघाट रोड में वार्ड नंबर 12 के ठीक सामने वार्ड नंबर 3 है। बीते तीन-चार वर्ष पूर्व बालाघाट रोड के दोनो वार्डो पर बनाई गई नाली वार्ड वासियों के लिए परेशानी बन गई है। नगर परिषद के द्वारा नाली तो बना दी गई लेकिन नाली के पानी की निकासी के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई। नाली का पानी निकासी ना होने के चलते नाली में हमेशा जलभराव जैसी समस्या बनी रहती है इससे गंदगी फैलने के साथ ही उसमें तैयार होने वाले मच्छरों के हमले से वार्ड के लोग संक्रामक बीमारी के साथ ही बुखार से पीड़ित हैं।

बता दे कि पूरे नगर का गंदा पानी बस स्टैंड में नालियों के माध्यम से जमा होता है और आखिर में बालाघाट रोड की नाली में पहुंचता है। इस नाली के माध्यम से पूरा पानी बालाघाट रोड में आ जाता है लेकिन इस रोड में पानी निकासी की व्यवस्था ही नहीं है जिसके चलते नाली के अंतिम छोर में पानी भरा हुआ रहता है। इन दिनों बारिश का मौसम प्रारंभ हो चुका है, नाली के अंतिम छोर में भरा पानी खेतों में पहुंच रहा है जिसके कारण लोगों ने उस खेतों में खेती करना छोड़ दिया है। वहीं खेतों में पूरा गंदा पानी फैलने के कारण गंदगी और बढ़ गई है जिसके कारण रहवासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

READ MORE : CG BIG BREAKING: छत्तीसगढ़ में ED का ताबड़तोड़ एक्शन, रायपुर समेत इन जिलों में धनकुबेरों के ठिकानों पर पड़ी रेड, हो सकता है बेनामी संपत्ति का खुलासा!

नगर में अनेक जगह बन रही जलभराव की समस्या

लांजी नगर को 52 तालाब की नगरी कहा जाता है, लेकिन नगर के कई तालाबों ने अपना अस्तित्व खो चुके हैं और कुछ तालाब भी धीरे-धीरे अपना अस्तित्व खो रहे हैं। नगर के प्रमुख रूप से गणेशी तालाब, हिरोला तालाब और चमारबोड़ी तालाब में पानी निकासी के सारे मार्ग लोगों ने बंद कर दिए है। अगर यह तालाब भरते हैं तो तालाब का पानी ओवरफ्लो होकर लोगों के घरों में जलभराव की स्थिति निर्मित कर सकता है। जल निकासी के लिए वर्तमान से करीब 10 साल पहले बालाघाट रोड में चार पुलिया बनाई गई थी इन चारों पुलिया के माध्यम से बरसात के पानी की निकासी होती थी लेकिन वर्तमान में मात्र एक पुलिया ही बची हुई है जिसके रास्ते को भी अवरुद्ध कर दिया गया है।

READ MORE : RAIPUR BREAKING: रायपुर में अधेड़ की लाश मिलने से फैली सनसनी, हत्या या आत्महत्या? जांच में जुटी पुलिस…

नगर में मुख्य रूप से बालाघाट रोड और एरिकेशन ऑफिस रोड में जलभराव की समस्या उत्पन्न हो सकती है चूंकि बालाघाट रोड और एरिकेशन ऑफिस के पीछे बना हिरोला तालाब जिसमें आमगांव रोड बालाघाट रोड और हॉस्पिटल का पानी जाता था लेकिन तालाब के पानी निकासी के लिए बनाई गई पुलिया अब बंद हो चुकी है इसलिए अब तालाब में पानी तो भरेगा लेकिन ओवरफ्लो होकर एरिकेशन ऑफिस के पीछे और बालाघाट रोड में बने मकानों में जलभराव की समस्या उत्पन्न करेगा।

बिना ड्रेनेज सिस्टम की प्लानिंग कर बनाई गई नाली

आज से 4 साल पहले नगर परिषद लांजी में लगभग 3 करोड़ से अधिक की राशि नाली निर्माण के लिए स्वीकृत हुई थी। जिसके लिए निविदा निकाली गई एवं अलग अलग ठेकेदारों द्वारा पेटी कांट्रेक्ट में लेकर नालियों का निर्माण किया गया, जिसमे तत्कालीन सब इंजीनियर और ठेकेदार के द्वारा मिलीभगत कर बिना ड्रेनेज प्लानिंग कर नगर की नालियां बनाई गई। नालियों का स्टीमेट बढ़ने के लिए जरूरत से ज्यादा ही गहरी बनाई गई एवं यह भी नहीं देखा गया की नालियों का पानी अंतिम छोर में कहां जायेगा। अब वर्तमान में नगर के सभी प्रमुख नालियों में पानी भरा पड़ा हुआ है एवं कीड़े मकोड़े उत्पन्न कर बीमारियों के न्योता दे रहा है।

READ MORE : Amrita prakash : Vivah Movie की छोटी अब दिखने लगी है काफी बोल्ड, पहचान नहीं पाएंगे आप, कातिलाना फोटोज शेयर कर लिखा

सीएम हेल्पलाइन में की गई शिकायत – सुरेंद्र बढ़घैया

बालाघाट रोड में वार्ड नंबर 12 और वार्ड नंबर 3 की नालियों में जो जलभराव की समस्या उत्पन्न हुई है इस समस्या के निराकरण के लिए सुरेंद्र बढ़घैया ने सीएम हेल्पलाइन में शिकायत दर्ज करवाई है, लेकिन अब तक मामले का निराकरण नहीं हो पाया है। मामले के संबंध में सुरेंद्र बढ़घैया का कहना है कि नालियों में जलभराव की समस्या होने के कारण गंदगी और मच्छरों की समस्या बढ़ गई है जिसके चलते बच्चों को मलेरिया, टाइफाइड जैसी बीमारियां होने का खतरा बड़ गया है वहीं बुजुर्गों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सुरेंद्र बढ़घैया का कहना है कि नगर परिषद को इस मामले में जल्द से जल्द निराकरण करना चाहिए एवं नालियों में जलभराव की समस्या उत्पन्न हुई है इससे मुक्त करना चाहिए।

नगर प्रशासन करें पानी निकासी की व्यवस्था

आज से 4 साल पूर्व बालाघाट रोड में बनाई गई नाली जिसके पानी निकासी के लिए ठेकेदार के द्वारा कोई व्यवस्था नहीं की गई थी। इस नाली में पूरे नगर का पानी आता है और अंतिम छोर से खेतों में जा रहा है। नगरीय प्रशासन को इस संबंध में जांच कर पानी निकासी की व्यवस्था करनी चाहिए। अगर पानी निकासी की व्यवस्था नहीं की गई तो तेज बारिश में लोगों के घरों में जलभराव जैसी समस्या हो सकती गई जिसका जिम्मेदार नगरीय प्रशासन रहेगा।

Back to top button