ट्रेंडिंगताज़ा खबरवर्ल्डस्टोरी नाउस्टोरीज इन फोकस

नए ब्रिज की आलोचना करने पर दो लोगों को हुई जेल, सोशल मीडिया पर की थी ये टिप्पणी, हाल ही में पीएम ने किया था लोकार्पण

ढाका (बांग्लादेश)। सोशल मीडिया में एक नव निर्मित ब्रिज पर टिप्पणी करना दो युवकों को भारी पड़ गया। इस मामले में उन पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। पूरा मामला बांग्लादेश का है जहां हाल ही में पद्मा ब्रिज का उदघाटन प्रधानमंत्री शेख हसीना ने किया था।

स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, एक व्यक्ति को सोमवार को एक फेसबुक पोस्ट के बाद गिरफ्तार किया गया था जिसमें उसने पुल पर पेशाब करते हुए अपनी तस्वीर लेने की इच्छा व्यक्त की थी।

READ MORE : CG Transfer Breaking : राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों का हुआ तबादला, जानें किन्हें मिला कहां का प्रभार

पुलिस ने विपक्षी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) के एक पूर्व निम्न-स्तरीय अधिकारी अबुल कलाम आजाद की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। जिले के कॉम्पानीगंज के पुलिस प्रमुख सादिकुर रहमान ने कहा, “उन्होंने एक खराब टिप्पणी की और पुल के बारे में अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया। जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। “

पुलिस ने कहा कि उनके तटीय शहर में “व्यापक प्रतिक्रिया” शुरू होने के बाद उनकी पोस्ट को हटा दिया गया। उनकी गिरफ्तारी उसी दिन हुई जब पुलिस ने एक टिक टॉक उपयोगकर्ता को हिरासत में लिया था, जिसने कथित तौर पर एक छोटा वीडियो पोस्ट किया था जिसमें दिखाया गया था कि पुल को एक साथ जकड़ने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले बोल्ट को आसानी से हटाया जा सकता है।

READ MORE : Corona positive होने के बाद Rohit Sharma की बेटी ने बताया अपने पापा का हाल, वीडियो में देखें बच्ची ने क्यूट अंदाज में क्या कहा?

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने संवाददाताओं को बताया कि तल्हा ने पुल और सरकार दोनों की प्रतिष्ठा को धूमिल करने के लिए वीडियो बनाया था। बता दें पुल बनाने की शुरुआत साल 2015 में हुई थी और पिछले साल दिसंबर में इसका काम पूरा किया गया था।

Back to top button