Uncategorized

मक्का भुगतान की मांग को लेकर 30 जून से फिर होगा आंदोलन

पखांजुर, बिप्लब कुण्डू: किसानों के साथ मक्का खरीदी के नाम हुई 7.87 करोड़ की ठगी के मामले में व्यापारी के परिजनों पर किसानों ने वादे से मुकरने का आरोप लगाते फिर से 30 जून से आंदोलन करने सड़क पर उतरने का फैसला लिया है । इस मुद्दे को लेकर किसानों ने सोमवार को मंडी परिसर में बैठक की । किसानों ने तहसील कार्यालय पहुंच ज्ञापन भी सौंपा ।


मक्का व्यापारी सुमन राय द्वारा क्षेत्र के 1028 किसानों को 7.87 करोड़ का मक्का का भुगतान नहीं किया गया । किसानों की शिकायत पर पुलिस ने 420 का मामला दर्ज करते आरोपी व्यापारी को गिरफ्तार कर लिया था । इसके बाद किसानों ने भुगतान की मांग को लेकर आंदोलन शुरू कर दिया था । पहले व्यापारी के पिता द्वारा तीन दिनों में भुगतान करने का वादा किया गया तो किसान सड़क से हटे थे । तीन दिनों बाद पिता ने भुगतान से इंकार कर दिया था तो किसान फिर से सड़क पर आ गए थे । एक बार फिर व्यापारी की मां , पत्नी व सास के साथ किसानों के प्रतिनिधिमंडल की बात हुई । व्यापारी के परिजनों ने दो दिनों में एक करोड़ नगद और दो करोड़ का चेक देने का वादा किया था । परिजनों ने एक करोड़ नगद दे दिया लेकिन व्यापारी की पत्नी ने कहा किसानों की परेशानी को देखते केवल एक करोड़ देने की बात हुई थी । दो करोड़ का चेक देने कोई बात ही नहीं हुई थी।

बैंक लेनदेन से हुआ स्पष्ट,व्यापारी को 26 करोड़ मिला :-
किसान नेता शंकर मालाकार , बुद्धदेव सरकार , शांति मिस्त्री ने कहा प्रशासन द्वारा जो बैंक लेन देन की जानकारी दिखाई गई है उसमें साफ है व्यापारी के खाते में मक्का बेचने से 26 करोड़ की राशि आई है । जब पैसा आया है तो किसानों को भुगतान क्यों नहीं किया जा रहा है । किसानों का आरोप है पूरे मामले में व्यापारी व उसका परिवार भी शामिल है ।

ठगी में पूरे परिवार की संलिप्तता का आरोप :-
बैठक में एजेंट शिवम विश्वास भी उपस्थित था जिसने व्यापारी और उसके परिजनों द्वारा लगाए आरोपों को बेबुनियाद बताते कहा ठगी के मामले में पूरा परिवार संलिप्त है । पुलिस ने जब आरोपी सुमन राय को पकड़ा तो उसके पास बही खाता था लेकिन उसने बहीखाता पुलिस को नहीं दिया । पुलिस ने दबाब बनाया तो उसकी मां और पिता ने बहीखाता पुलिस को सौपा । कांकेर में रहने वाली आरोपी की बहन ने उसे घर में छुपाकर रखा और मुझे छेड़खानी के झूठे मामले में फंसाने का भी प्रयास किया ।

Back to top button