अतिसंवेदनशील क्षेत्रों में हो रहा स्वास्थ्य सेवाओं में विस्तार, कई किलोमीटर पैदल चलकर ग्रामीणों तक पहुंची स्वास्थ्य अमला

फकरे आलम/दंतेवाड़ा- बचेली। जिले के पहुंचविहीन गांवों तक पहुंच स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार किया जा रहा है। अंदरूनी क्षेत्रों तक पहुंचकर अंतिम व्यक्ति तक विभागीय योजनाओं से लाभांवित किया जा रहा है। ऐसे ही कलेक्टर श्री दीपक सोनी के दिशा-निर्देशन में स्वास्थ्य विभाग की टीम लगभग 12 किलोमीटर पैदल चलकर, पहाड़ियों को पार कर विकासखंड कुआकोंडा अंतर्गत लोहा गांव पहुंची टीम में 25 सदस्य शामिल थे।

गांव के लोग अपने गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम को देखकर अत्यंत खुश हुए। उन्होंने कहा कि हम नहीं पहुंच पा रहे तो स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंच गई। स्वास्थ्य अमले को देख गांव के लोग स्वेच्छा से अपना इलाज करवाया। टीम के द्वारा लोगों को इलाज के साथ-साथ निशुल्क दवाइयों का वितरण किया गया । लोहा गांव पहुंचविहीन होने के कारण आगामी बारिश के मौसम के मद्देनजर रखते हुए गांव में डिपो होल्डर के माध्यम से दवाइयों का भंडारण किया गया ताकि किसी प्रकार की आपातकालीन समस्या होने पर गांव के लोगों को वहां से दवाई मिल पाए। साथ ही मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान के तहत सभी ग्रामीणों से मलेरिया की जांच की गई।

125 की जनसंख्या वाले लोहा ग्राम में लगे इस स्वास्थ्य शिविर में 104 ग्रामीणों ने अपना स्वास्थ्य परीक्षण कर उपचार करवाया। इस दौरान मलेरिया जांच में 11 मरीज पॉजिटिव पाए गए, वहीं 14 लोगों में मोतियाबिंद और 3 बच्चों में कुपोषण की समस्या मिली। रोगी पाए गए ग्रामीणों को उपचार उपरांत आवश्यकतानुसार दवा दी गयी। स्वास्थ्य विभाग के द्वारा इन गांवों में ग्रामीणों को विभाग की योजनाओं से अवगत कराया गया।

ऐसे ही विभाग के द्वारा पिछले एक वर्षों से लगातार ऐसे दुर्गम क्षेत्रों का चिन्हांकन वहां पहुंचकर स्वास्थ्य लाभ एवं विभाग की योजनाएं पहुंचाई जा रही है उक्त टीम में जिला कार्यक्रम प्रबंधक संदीप ताम्रकार खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ सुमित दलाल डॉ ऋषभ कोचर डॉक्टर दिलेश वर्मा आर एम एन सी एच से सलाहकार डॉ गीतू हरित मीडिया अधिकारी श्री अंकित सिंह डब्ल्यूएचओ सलाहकर कुमार गौरव अतीक अंसारी पर्वेशक श्री राजेश बेहरा श्री डीके साहू आर एच ओ नैना कश्यप शमीम रजा एवं स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी शामिल थे।

unibots video ads
Back to top button