घुमका में शव परीक्षण का कार्य शुरू करने ग्रामीण अड़े, बीएमओ को सौंपा ज्ञापन

राजनांदगांव, प्रेमेंद्र मानिकपुरी। घुमका में शव परीक्षण का कार्य शुरू करने ग्रामीण अड़े हुए हैं। ग्रामीणों ने बुधवार को घुमका में पोस्टमार्टम का कार्य शुरू करने के लिए बीएमओ डॉ विजय खोबरागड़े को ज्ञापन सौंपा हैं।

ग्रामीणों ने ज्ञापन में लिखा है कि 12 वर्ष पूर्व पोस्टमार्टम भवन का निर्माण किया गया था जो वर्तमान में अनुपयोगी साबित हो रहा है इस भवन के मरम्मत के लिए ग्राम पंचायत ने 50 हजार और भी खर्च किए उसके बाद में भी इस भवन का उपयोग नहीं हो सका हैं। इसके उपरांत डीएमएफ फंड से 5 लाख की स्वीकृति से नया भवन का निर्माण किया गया है।

किंतु यहां पर पोस्टमार्टम की व्यवस्था अब तक नहीं किया गया है चुंकि घुमका थाना क्षेत्र के अंतर्गत 45 गांव के लोगों को पोस्टमार्टम के लिए 30 किलोमीटर दूर दूरी का सफर तय करना पड़ता है शासन साधन व सुविधा उपलब्ध तो करा रही है।

unibots video ads

किंतु इसे क्रियान्वित करने वाले प्रशासनिक अधिकारीयो की लापरवाही से इलाके के ग्रामीणों को लाभ से वंचित होना पड़ रहा है तत संदर्भ में ज्ञापन देने पहुंचे ग्रामीणों को बी एमओ खोबरागड़े ने भवन को हैंड ओवर नहीं होने का हवाला दिया सरपंच फूलमती वर्मा से तत्काल संपर्क किया गया जहां पर सरपंच वर्मा ने बीएमओ को पोस्टमार्टम भवन का चाबी सौंप दी।

इस तरह पोस्टमार्टम भवन को ग्रामीणों ने बीएमओ को हैंड ओवर करा लिया बीएमओ खोबरागड़े व सीएमओ मिथिलेश चौधरी ने कहा कि 1 सप्ताह के अंदर शव परीक्षण का कार्य शुरू कर दिया जाएगा ज्ञापन सौंपने वालों में जोगी कांग्रेस के संभाग व जिला प्रवक्ता पीयूष दुबे ग्राम पटेल बाबूलाल वर्मा विकास पाल गोविंद साहू हिंसा राम वर्मा भाजपा घुमका मंडल के महामंत्री नोहेन्द्र सिन्हा पेमेंद्र मानिकपुरी जय कुमार वर्मा आदि लोग उपस्थित थे।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में व्याप्त समस्याओं पर भी ग्रामीणों ने चर्चा किया बीएमओ ने ग्रामीणों को बताया कि डॉक्टरों की कमी है जिसकी पूर्ति करना आवश्यक है उन्होंने कहा कि आर ए एम सहित 8 डॉक्टर पदस्थ है किंतु डॉक्टर बी एल तुलावी कार्यालय अटैच डॉ उषा विंध्य राज 3 वर्षों से अवैतनिक अवकाश पर डॉक्टर नंदकिशोर टंडन 30 जून तक अवकाश पर जेबा खान अवकाश पर विवेक कुमार साहू त्यागपत्र स्नेहल दहाते अवैतनिक अवकाश पर वर्तमान में आर े.ं. अभिलाषा भुवनेश्वर और बीएमओ खोबरागड़े कार्यरत है ग्रामीणों ने कर्मचारियों के मुख्यालय में रहने की भी बात उठाई बीएमओ खोबरागड़े ने कहा कि कार्यालय में रहने के लिए कलेक्टर का सख्त आदेश है जिस के परिपालन में सभी कर्मचारियों को नोटिस जारी की गई है। मुख्यालय मेंनहीं रहने वाले कर्मचारियों पर कार्यवाही की जाएगी।

Back to top button