लिटिल योगा चैंपियन आदित्य राजे सिंह ने गांव के बच्चों को सिखाया योग

नवापारा राजिम: रायपुर विश्व योगा दिवस 21 जून को रायपुर के लिटिल योगा चैंपियन आदित्य राजे सिंह दुर्ग जिले के शासकीय प्राथमिक शाला बटंग मैं अपने दादा केपी सिंह और परिजनों के साथ जाकर अपने हमउम्र साथियों को अर्थात प्राइमरी की स्कूली छात्र छात्राओं को सरल सहज योग के लिए प्रेरणा देते हुए कुछ योगासन भी करवाएं और उन्हें संदेश देते हुए कहा अगर हम 20 मिनट योग कर लेते हैं तो शारीरिक और मानसिक रूप से हमेशा चुस्त दुरुस्त रह सकते हैं हमारे लिए शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रहना जरूरी है इसके बारे में मैं 2 पंक्तियां कहता हूं… हमें खुद से मिलाता है योग -साक्षात दिलाता है ईश्वर की अनुभूति योग।
योग है स्वास्थ्य की क्रांति… जो छोटे बड़े सबके जीवन में ले आता है पूर्ण सुख और शांति।।।

मास्टर आदित्य राजे ने विशेष संवाददाता महेंद्र सिंह ठाकुर से कहा उनका अगला मुहिम गांव और गांव के स्कूलों में जाकर योग सिखाने पर पूर्ण ध्यान केंद्रित करना है मैंने अनुभव किया गांव के बच्चों में पहले जैसे खेलकूद की भावना खत्म होती जा रही है इसके दो कारण हैं पहला अधिकांश गांव में खेल मैदान ही नहीं है दूसरा आधुनिक विज्ञान की देन मोबाइल जिसमें अधिकांश बच्चे सो कर उठने के साथ चिपक जाते हैं इसका भयंकर दुष्परिणाम निकलता है मैं सभी माता-पिता से अपील करता हूं बच्चों को पढ़ाई के अलावा मोटिवेशन और अन्य चीजों के लिए मोबाइल उपयोग करने दें.

जिससे उनका भविष्य बने ना कि मनोरंजन और नशे की लत की तरह जिसमें शारीरिक और मानसिक रूप से मेरे नन्हे मुन्ने साथी कमजोर होते हुए एक दिन भाव शुन्य हो जाते हैं। योगा कार्यक्रम के बाद स्कूल स्टाफ और परिजनों के साथ स्कूली छात्र छात्राओं को पौष्टिक आहार और फल का वितरण किया योगा के मामले में मास्टर आदित्य राजे को छत्तीसगढ़ योग आयोग आर्ट ऑफ लिविंग उत्कर्ष योगा एवं डीपीएस स्कूल रायपुर जिसके वे कक्षा तीसरी के छात्र हैं उन्होंने भी इन्हें अप्रिशिएट किया है।

unibots video ads
Back to top button