मराठा सियासत की इनसाइड स्टोरी ‘संकट में उद्धव-पावर बने माधव’ कहा-शिंदे को ही CM बना दो, जानें महाराष्ट्र में क्या पक रही है खिचड़ी

मुंबई/सूरत। महाराष्ट्र में शिवसेना के मंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) की अगुवाई में 46 विधायकों के बागी होने से (Political crisis in Maharashtra( उद्धव सरकार (CM Uddhav) संकट में आ गई है। इस बीच बागी नेता ने सीएम पद ही नहीं संगठन पर भी दावा ठोंक दिया है। शिंदे का कहना है कि वो ही असली शिव सैनिक जो शिवसेना के संस्थापक बाला साहेब ठाकरे के विरासत वाली शिवसेना के असली हकदार है।

इसी बीच महा अधाड़ी सरकार को बचाने के लिए एनसीपी नेता शरद पवार ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को सलाह दी है कि इस सियासी संकट से निकलने के लिए बेहतर होगा कि वो बागी नेता एकनाथ शिंदे को ही मुख्यमंत्री बना दें।

शिंदे ने 34 विधायकों के समर्थन वाली चिट्ठी राज्यपाल को भेजी

बता दें आज शाम सीएम उद्धव ठाकरे ने पार्टी विधायकों की बैठक बुलाई थी,जिसमें पार्टी विधायकों को व्हीप जारी किए गए थे लेकिन उससे पहले ही बागी नेता एकनाथ शिंदे ने पार्टी व्हिप को अवैध बता चीफ व्हिप सुनील प्रभु को हटाने की घोषणा कर दी। साथ ही भरत गोगावले को इस पद पर नियुक्त भी कर दिया। साथ ही शिंदे ने विधायक दल के नेता होने का दावा ठोकते हुए 34 विधायकों के समर्थन वाली चिट्ठी राज्यपाल को भेज दी।

साफ है सरकार के साथ पार्टी पर भी कब्जा करने की कोशिश। शिंदे दावा कर रहे हैं कि उनके पास 46 विधायक हैं। हालांकि, गुवाहाटी में अभी शिवसेना के 35 और 2 निर्दलीय विधायक हैं। 3 और विधायक महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल के साथ गुवाहाटी के लिए निकल चुके हैं। यानी कुल 40 विधायक ऐसे है जो एकनाथ शिंदे के साथ हैं।

READ MORE- ब्रेकिंग: नीतीश कुमार ने NDA की राष्ट्रपति पद उम्मीदवार द्रौपदी मूर्मू के समर्थन का किया ऐलान

unibots video ads

इस बीच खबर है कि शिवसेना को बचाने के लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे किसी भी वक्त सीएम पद से इस्तीफा दे सकते हैं। उद्धव ने शाम को फेसबुक लाइव किया है और कहा कि शिंदे सामने तो आएं, सामने आकर कहें कि मुख्यमंत्री पद पर मैं न बैठूं तो मैं सबकुछ छोड़ दूंगा। इस स्पीच के बाद ही शरद पवार उद्धव से मिलने पहुंचे। बताया जा रहा है कि एक घंटे चली मीटिंग में पवार ने उद्धव को सलाह दी है कि शिंदे को ही मुख्यमंत्री बना दो।

Back to top button