बड़ी खबर : यशवंत सिन्हा होंगे विपक्ष के राष्ट्रपति उम्मीदवार, 19 से अधिक दलों का मिला समर्थन, जानिए इनके बारे में……

नई दिल्ली : आगामी होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष ने यशवंत सिन्हा को अपना राष्ट्रपति उम्मीदवार चुना है।  यशवंत सिन्हा कभी बीजेपी के मजबूत सिपाही हुआ करते थे, वो अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं। राष्ट्रपति चुनाव के लिए यशवंत सिन्हा के नाम का ऐलान करते हुए कांग्रेस के नेता जयराम रमेश ने कहा कि हमने सर्वसम्मति से फैसला किया है कि यशवंत सिन्हा राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष के आम उम्मीदवार होंगे।  NCP के अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि हम 27 जून को साढ़े ग्यारह बजे राष्ट्रपति पद के नामांकन करेंगे। सिन्हा को 19 से ज्यादा दलों का समर्थन मिला है।  

READ MORE : International Yoga Day: PM मोदी और राष्ट्रपति कोविंद ने यहां किया योगासन, कही ये बड़ी बात

 यशवंत सिन्हा ने सुबह ट्वीट कर कहा था, “राज्यसभा और फिर विधान परिषद चुनावों में TMC ने जो सम्मान और प्रतिष्ठा दी, उसके लिए मैं ममता बनर्जी का आभारी हूं। अब समय आ गया है जब एक बड़े राष्ट्रीय उद्देश्य के लिए मुझे पार्टी से हटकर अधिक विपक्षी एकता के लिए काम करना चाहिए। मुझे यकीन है कि पार्टी मेरे इस कदम को स्वीकार करेगी।”

जानिए कौन है यशवंत सिन्हा  

यशवंत सिन्हा 1960 में आईएएस के लिए चुने गए और पूरे भारत में उन्हें 12वां स्थान मिला।  24 साल आईएएस की भूमिका निभाने के बाद वो 1984 में राजनीति में आए। 1990 में वो चंद्रशेखर की सरकार में वित्त मंत्री बने। यशवंत सिन्हा ने 2009 का चुनाव जीता, लेकिन 2014 में उन्हें बीजेपी का टिकट नहीं दिया गया। धीरे-धीरे नरेंद्र मोदी से उनकी दूरी बढ़ने लगी और अंतत: 2018 में 21 वर्ष तक बीजेपी में रहने के बाद उन्होंने पार्टी से इस्तीफ़ा दे दिया। 

READ MORE : राष्ट्रपति चुनाव: वो समीकरण जिसमें एनडीए को मात दे सकता है विपक्ष, WHAT?..हां..पढें..

unibots video ads


बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 29 जून है, मतदान 18 जुलाई को होगा और वोटों की गिनती 21 जुलाई को होगी। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है। 

Back to top button