ब्रेकिंग: नूपुर शर्मा के खिलाफ कुवैत में प्रदर्शन करने वाले प्रवासियों पर कड़ी कार्रवाई, भेजे जाएंगे वापस, दोबारा एंट्री पर बैन

कुवैत सिटी। कुवैती सरकार ने उन प्रवासियों के खिलाफ कठोर कदम उठाए हैं, जिन्होंने पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी की निलंबित राष्ट्रीय प्रवक्ता नुपुर शर्मा द्वारा की गई विवादास्पद टिप्पणी के विरोध में शुक्रवार की नमाज के बाद प्रदर्शन किया था। प्रदर्शनकारियों की पहचान करने के बाद, उन्हें कुवैत से निर्वासित कर दिया जाएगा और उनका फिर से प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया जाएगा।

आपको बता दें कि कुवैत सरकार शुक्रवार की नमाज के बाद कुवैत के फहील में नूपुर शर्मा के खिलाफ प्रवासियों के विरोध प्रदर्शन पर भड़क गई है। कुवैती सरकार ने इस मामले में सख्त कार्रवाई करते हुए पैगंबर के पक्ष में नारे लगाने वाले प्रवासी प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार करने का आदेश दिया है।

कुवैत के प्रकाशन ‘अरब टाइम्स’ के अनुसार, सरकार ने आदेश दिया है कि फ़हील में प्रदर्शनकारियों की पहचान की जाए और उन्हें जेल में डाला जाए। रिपोर्टों के अनुसार, कुवैत सरकार ने विरोध को कुवैती कानून का स्पष्ट उल्लंघन माना है, और आदेश दिया है कि प्रदर्शनकारियों की पहचान की जाए और उन्हें जल्द से जल्द कुवैत से निर्वासित किया जाए।

कुवैत के कानून में प्रवासियों को नहीं धरना प्रदर्शन का अधिकार

आंकड़ों के अनुसार, अधिकांश दक्षिण एशियाई मुसलमान कुवैत के फहील क्षेत्र में रहते हैं, जिसमें भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका और बांग्लादेश शामिल हैं। रिपोर्टों के अनुसार, कुवैत में स्पष्ट कानूनी आवश्यकताएं हैं जो देश में प्रवासियों द्वारा किसी भी प्रकार के विरोध या प्रदर्शन को गैरकानूनी बनाती हैं।

READ MORE- राधिका आप्टे ने खोला बॉलीवुड को ये गंदा राज, इसलिए उसे फिल्म में नहीं मिलता था रोल

unibots video ads

अल राय के एक लेख के अनुसार, प्रदर्शनों में भाग लेने के लिए कुवैती सरकार के जासूसों द्वारा निर्वासित किसी भी प्रवासी को कुवैत लौटने से रोक दिया जाएगा। कुवैती सरकार ने देश में प्रवासियों को चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि सभी प्रवासियों को कुवैती कानूनों का पालन करना चाहिए और किसी भी प्रकार के प्रदर्शन में भाग लेने से बचना चाहिए।

Back to top button