OMG : बूढ़े चूहों के बाद अब इंसानो को फिर से जवान बना सकते हैं वैज्ञानिक, शुरू हुई अमर बनने की प्रक्रिया, जानिए

वाशिंगटन। आप ने ऐसी बहुत कहानियां सुनी होगी या आपने अपनी आँखों से देखा होगा की दुनिया में तरह तरह के दावें किये जाते है वही इस बीच हावर्ड मेडिकल स्कूल के मॉलीक्यूलर जीव विज्ञानी डेविड सिनक्लेयर की प्रयोगशाला में बूढ़े चूहे एक बार फिर से युवा होने का दावा किया गया है। अब प्रयोगशाला में प्रोटीन का उपयोग करते हुए एक वयस्क कोशिका को स्टेम सेल में बदला जा सकता है और सिनक्लेयर और उनकी टीम ने चूहों में उम्र बढ़ने वाली कोशिकाओं को स्वयं के पुराने संस्करणों में रीसेट कर दिया है। विज्ञान की दुनिया के लिए ये एक बहुत बड़ी कामयाबी है और अब इंसानों के ऊपर भी इसे ट्राई किया जाएगा।

READ MORE : OMG : भारत में 71% लोगों को नहीं मिल पा रहा हेल्दी डाइट, हर साल हो रही इतने लाख लोगों की मौत का जिम्मेदार कौन?

आपको बता दें जीव विज्ञानी डेविड सिनक्लेयर और उनकी टीम को पहली कामयाबी साल 2020 में उस वक्त तब मिली थी, जब उन्होंने आंखों की रोशनी गंवा चुके एक चूहे को, जिसका रेटिना क्षतिग्रस्त हो चुका था, उसे सही कर दिया और उस चूहे ने फिर से देखना शुरू कर दिया था और रिसर्च में पता चला था, कि उस बूढ़े चूहे की देखने की क्षमता, जवान चूहों से मुकाबले काफी ज्यादा हो चुकी है।

READ MORE : OMG : 130 फीट गहरे कुएं से 12 घंटे बाद जिंदा निकला युवक, बाहर आकर बोला- शुक्र है जान बची.. ठीक हूं

वहीं सीएनएन से बात करते हुए वैज्ञानिक डेविड सिनक्लेयर ने कहा कि, ‘यह एक स्थायी रीसेट है, जहां तक हम बता सकते हैं, और हमें लगता है कि यह एक सार्वभौमिक प्रक्रिया हो सकती है जिसे हमारी उम्र को रीसेट करने के लिए पूरे शरीर में लागू किया जा सकता है’। सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, जीव विज्ञानी सिनक्लेयर पिछले 20 वर्षों में उम्र को रिवर्स करने के तरीकों का अध्ययन कर रहे हैं और अब उन्हें बड़ी कामयाबी हासिल हुई है।

unibots video ads

READ MORE : OMG : अब मात्र इतने रुपए दें और बन जाइए HONDA ACTIVA के मालिक, जानिए कंपनी की यह शानदार स्कीम

इसके साथ ही जीव विज्ञानी सिनक्लेयर ने सीएनएन के साथ साझेदारी में प्रस्तुत एक स्वास्थ्य और कल्याण कार्यक्रम, लाइफ इटसेल्फ में दर्शकों को बताया कि, ‘अगर हम उम्र बढ़ने को उलट दें, तो ये बीमारियां नहीं होनी चाहिए। आज हमारे पास बगैर किसी बीमारी के सौ साल तक जीना सक्षम बनाने की तकनीक है, जिसमें 70 साल की उम्र में कैंसर, या हार्ट अटैक और फिर भूलने की बीमारी से इंसानों को छुटकारा मिल सकती है’। सिनक्लेयर ने दर्शकों से कहा कि, ‘यह एक ऐसी दुनिया है, जो हमारे सामने आने वाली है और यह सचमुच का सवाल है, कि हम में से अधिकांश के लिए यह कब और हमारे जीवन में कब तक घटित होने वाला है।

READ MORE : OMG : हैदराबाद के इस लड़के ने गेमिंग के चक्कर में मां के अकाउंट से उड़ाए लाखों रुपए, फिर जो हुआ उसे जानकर उड़ जाएंगे आपके होश,पढ़िए

वही वैज्ञानिक सिनक्लेयर के प्रोजेक्ट में निवेश करने वाले व्हिटनी केसी ने कहा कि ‘वैज्ञानिक सिनक्लेयर के शोध से पता चलता है कि आप जीवन को लंबे समय तक छोटा बनाने के लिए उम्र बढ़ने को बदल सकते हैं’। उन्होंने कहा कि, अब वह दुनिया को बदलना चाहते हैं और उम्र बढ़ने को एक बीमारी बनाना चाहते हैं’। उन्होंने कहा कि, आधुनिक चिकित्सा पद्धति से बीमारी का इलाज किया जाता है, जबकि बीमारी क्यों हुई है, इसका इलाज नहीं किया जाता है, और ज्यादातर बीमारियों की असल वजह उम्र का बढ़ना है। वहीं, सिनक्लेयर ने कहा कि, ‘हम जानते हैं कि जब हम चूहे में मस्तिष्क जैसे अंग की उम्र उलट देते हैं, तो उम्र बढ़ने के रोग दूर हो जाते हैं। याददाश्त वापस आती है, कोई और मनोभ्रंश नहीं होता है। उन्होंने कहा कि, ‘मेरा मानना है कि भविष्य में, उम्र बढ़ने में को देर तक रोकना और फिर उसे उलटना, उन बीमारियों के इलाज का सबसे अच्छा तरीका होगा जो हम में से अधिकांश को पीड़ित करते हैं’।

Back to top button