भारत ने कर दिखाया ऐसा कमाल, अब गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हो गया नाम, जानिए क्या हैं वो खास उपलब्धि

नई दिल्ली : भारत ने एक बार फिर ऐसा कारनामा कर दिखाया है, जिसकी वजह से उसका नाम गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज हो गया है। इस बार ये कमाल NHAI ने कर दिखाया है। NH-53 पर सिंगल लेन में 75 किलोमीटर लंबी बिटुमिनस कंक्रीट सड़क बनाने के लिए भारत का नाम गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ है। एक बार में बनी यह दुनिया की सबसे लंबी सड़क है। इसका निर्माण महाराष्ट्र के अमरावती और अकोला के बीच NH-53 पर हुआ है। 

READ MORE : हाइट सिर्फ 3 फीट 4 इंच, जज्बा ऐसा की गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज कराया नाम

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने इसकी जानकारी दी। गडकरी ने ट्वीट कर बताया कि महाराष्ट्र के अमरावती से अकोला तक 75 KM लंबी सड़क 105 घंटे में बिछा दी है। ये सड़क राज पाथ इनफ्राकॉन प्राइवेट लिमिटेड और जगदीश कदम ने 3 जून से 7 जून के बीच बिछाई है।गडकरी ने कहा कि ये सभी भारतियों के लिए गर्व का पल है। हमारी असाधारण टीम एनएचएआई, कंसल्टेंट्स और कंसेशनेयर, राजपथ इंफ्राकॉन प्राइवेट लिमिटेड और जगदीश कदम को 75 किलोमीटर बिटुमिनस सड़क बनाने का गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड हासिल करने पर बधाई देते हुए बहुत खुशी हो रही है। बता दें कि इससे पहले ये रिकॉर्ड कतर के नाम था। 27 फरवरी 2019 को लोक निर्माण प्राधिकरण ने सबसे तेज 22 KM लंबी सड़क बनाई थी।

READ MORE : अजब -गजब : ये है दुनिया का सबसे बुजुर्ग जानवर , उम्र और नस्ल जानकर उड़ जाएंगे होश , गिनीज बुक में दर्ज हुआ नाम


75 किमी लंबी सड़क  105 घंटे 33 मिनट में बनकर तैयार हुई 

unibots video ads

75 किमी यह लंबी सड़क को पूरी टीम ने 3 जून को सुबह 7:27 बजे सड़क का निर्माण शुरू किया और 7 जून को शाम 5 बजे तक सड़क निर्माण को पूरा किया। इसे तैयार होने में महज 105 घंटे 33 मिनट का ही समय लगा। जिसे रिकॉर्ड के तौर पर दर्ज किया गया। इस प्रोजेक्ट में NHAI के लगभग 800 कर्मचारी और स्वतंत्र सलाहकारों सहित राजपथ इंफ्राकॉन के 720 कर्मचारी शामिल थे। 

Back to top button