एसपी को पैसे पहुंचाने का धौस देकर महिला किराना कारोबारी से आरक्षक संतोष पाटले ने की 40 हजार की मांग

मस्तुरी: जिले के मस्तुरी थाने में पदस्थ आरक्षक का अनोखा कारनामा सामने आया है, आरक्षक जिले के एसपी को पैसे देने के नाम पर महिला किराना कारोबारी से 40 हजार की मांग करते हुए नहीं देने पर महिला के नाती को अवैध शराब बिक्री के झूठे मामले में फंसा देने की धमकी डे रहा है| पीड़ित महिला ने मस्तुरी थाने में पदस्थ आरक्षक व उसके साथी पुलिस कर्मियों के खिलाफ जिले के एसपी, मस्तुरी विधायक व अध्यक्ष मानवाधिकार अपराध नियंत्रण ब्यूरो से इस मामले की शिकायत कर न्याय की गुहार लगाई है|

मस्तुरी थाना क्षेत्र के ग्राम खोरसी निवासी घासीन बाई उम्र 60 वर्ष पति स्व 0 आंगन दास जाति सतनामी निवासी ग्राम खोरसी में किराना दुकान का संचालन करती हूँ एवं मेरा नाती खिलावन पिता स्व पुरन सोनी भाजपा बुथ अध्यक्ष का दायित्व करता है जिस कारण मेरे नाती को परेशान किया जाता है| घासीन बाई ने बताया कि दिनांक 15.05.2022 दिन रविवार को समय सुबह 9:00 बजे संतोष पाटले पुलिस थाना मस्तूरी के द्वारा सिविल ड्रेस में आकर अपने साथियों के साथ मेरे दुकान में घुसकर समान इधर उधर करने लगे मेरे मना करने पर पुछा आप कौन हो ऐसा क्यों कर रहो तो मैं संतोष पाटले थाना मस्तूरी में पुलिस हूँ और मुझे तत्काल 40,000 / – चालीस हजार रूपये मांगा और कहा गया कि उक्त राशि को एसपी आफीस में देना है अगर नहीं दोगे तो शराब बेचने के जुर्म में तुम्हारे नाती खिलावन को झूठा रिपोर्ट दर्ज कर फंसा देंगे।

घासीन बाई ने बताया कि गरीब महिला हूँ और दुकान चलाकर अपने एवं अपने परिवार का पालन पोषण करती हूँ मेरे पास देने के लिये उतनी रकम नहीं है जिस कारण संतोष पाटले पुलिस एवं उनके साथियों के द्वारा शराब का खाली डिब्बा के साथ मेरे नाती खेलावन को पकड़कर थाना मस्तूरी लाकर बैठा दिया गया था और उसे 1:00 बजे तक परेशान किया जाता रहा कि अब भी तुम्हारे पास समय है जल्दी से रकम की व्यवस्था कर दो तब तुम्हे छोड़ देंगे।

घासीन बाई ने बताया कि संतोष पाटले अपना पुलिस होने का रौब दिखता है एवं ग्राम केवतरा थाना पचपेड़ी जिला बिलासपुर छ.ग. का निवासी है जो क्षेत्रिय होने के नाते कभी भी किसी के साथ कुछ भी करता है एवं पूर्व में मल्हार चौकी में पदस्थ रहते हुये शराब का खाली डिब्बा वाला प्रकरण हुआ था।

जिसे थाना सिरगिट्टी में पदस्थ किया गया था उसके बाद पुनः थाना मस्तूरी में अपना ट्रास्फर कराकर पदस्थ है और उक्त कृत्य को पुनः दोहरा रहा है जिससे हम काफी डरे हुये है उसके द्वारा किसी भी प्रकरण में झूठा फंसा दिये जाने का संभावना है जिस कारण कार्यवाही किया जाना न्यायोचित होगा।

unibots video ads

संतोष पाटले के उपर पुलिस अधिकारियों का हॉथ है और उनके द्वारा अधिकारियों का कमीशन बंधा हुआ है जिस कारण उसे जिला से बाहर ट्रास्फेर नही होता है। अतः से प्रार्थना है कि संतोष पाटले पुलिस एवं उनके साथियों के उपर तत्काल कार्यवाही किये जाने की दया हो।

Back to top button