BIG BREAKING : Mithali Raj ने इंटरनेशनल क्रिकेट से लिया संन्यास, ट्वीट कर लिखा लम्बा-चौड़ा नोट, जानिए खिलाड़ी ने क्यों लिया ये फैसला?

नई दिल्ली: क्रिकेट जगत से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही है. भारतीय महिला क्रिकेट की धुरंधर खिलाड़ी मिताली राज (Mithali Raj) ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया है. मिताली राज ने 39 साल की उम्र में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी फॉर्मेट को अलविदा कह दिया है.

READ MORE: Women’s Under-19 T20 cricket world cup: एक मुकाबला ऐसा भी- सिर्फ 8 रन बनाकर सिमट गई पूरी टीम, 7 बॉल में मैच जीतकर इस टीम नें रचा इतिहास, एक नजर हाईलाइट्स पर…

आपको बता दें कि मिताली राज पिछले 23 साल से क्रिकेट खेल रही थीं. मिताली अपने उम्दा प्रदर्शन से दर्शकों का दिल जीतते आईं है. मिताली राज वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला हैं. अगर मिताली को विराट कोहली की तरह रन मशीन कहा जाये तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी।

unibots video ads

मिताली राज भारत में महिला क्रिकेट की पहचान हैं, बतौर कप्तान भी सबसे ज्यादा जीत उनके नाम ही हैं. मिताली के इस तरह सन्यास के ऐलान के बाद फैंस को गहरा झटका लगा है.

READ MORE: जाने क्या है पैंडोरा पेपर्स, जिसमे शामिल है Anil Ambani और Sachin Tendulkar जैसे बड़े नाम

बुधवार को मिताली राज ने ट्विटर पर एक लंबा संदेश जारी कर संन्यास का ऐलान किया. मिताली ने अपने मैसेज में लिखा कि मैं एक छोटी बच्ची थी जब मैंने ब्लू जर्सी पहनकर अपने देश का प्रतिनिधित्व किया था. ये सफर काफी लंबा रहा जिसमें हर तरह के पल देखने को मिले, पिछले 23 साल मेरे जीवन के सबसे बेहतरीन पलों में से एक थे. हर सफर की तरह ये सफर भी खत्म हो रहा है और आज मैं इंटरनेशनल क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास लेने का ऐलान करती हूं.

खिलाड़ी ने अपने मैसेज में लिखा कि मैंने जब भी फील्ड पर कदम रखा, हमेशा अपना बेहतर करने की कोशिश की और टीम को जीत दिलाने पर फोकस किया. मुझे लगता है कि अपने करियर को अलविदा कहने का यही सही वक्त है, जहां पर भारत का भविष्य युवा प्लेयर्स के हाथ में है. मैं बीसीसीआई, सचिव जय शाह और बाकी सभी अधिकारियों का शुक्रिया अदा करती हूं.

READ MORE: मिताली राज ने अब तक क्यों नहीं की शादी? 39 साल की क्रिकेटर ने अब किया अपने पहले प्यार का खुलासा, जानें वजह

मिताली राज ने आगे कहा कि कई साल तक टीम की कप्तानी करना मेरे लिए गर्व की बात रही, इस वक्त ने मुझे एक इंसान के तौर पर बेहतर बनाया, साथ ही महिला क्रिकेट को भी आगे बढ़ाया. ये सफर भले ही यहां पर खत्म हो रहा है लेकिन मैं किसी ना किसी रूप में क्रिकेट के साथ जुड़ी रहूंगी.

Back to top button