BIG BREAKING: CGBSE ने जारी किए परिणाम, 12 वीं में रितेश ने किया टॉप, तो सुमन और सोनाली बनीं 10वीं की टॉपर, यहां देखें प्रतिशत में आंकड़ों के साथ हर एक डिटेल…


रायपुर: छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल ने आज 10वीं और 12वीं का परीक्षा परिणाम जारी दिया है। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने हाईस्कूल और हायर सेकेंडरी परीक्षा के परिणाम जारी किए। स्टूडेंट्स रिजल्ट मण्डल की वेबसाइट https://www.cgbse.nic.in और https://www.results.cg.nic.in पर देख सकेंगे।

12वीं बोर्ड के एग्जाम में बालोद के रितेश कुमार साहू ने बाजी मारी है. रितेश ने 12वीं में टॉप करते हुए 95.60 प्रतिशत अंक अर्जित किये। वहीं सेकण्ड टॉपर संजना वर्मा रही. इसके साथ ही 10वीं बोर्ड एग्जाम में बेटियों का परचम लहराया। 10वीं बोर्ड में रायगढ़ की सुमन पटेल और कांकेर की सोनाली बाला ने टॉप किया है. दोनों ने ही 98.67 (600 में 592 अंक) प्रतिशत अंक अर्जित किये हैं.

 

बता दें कि इस बार 12वीं का रिजल्ट 79.30% तो वहीं 10वीं का परिणाम 74.23% रहा. खास बात ये है कि इस बार स्टूडेंट्स को पुरस्कार के रुप में लैपटॉप की जगह डेढ़ लाख की राशि प्रदान की जाएगी, ताकि वह अपने क्षेत्र आगे की पढ़ाई के लिए और अपने आपको समाज की मुख्यधारा के साथ जोड़ने के लिए तत्पर रह सकें।

 

read more: BIG BREAKING: CGBSE ने जारी किए 10वीं-12वीं के परिणाम, रिजल्ट चेक करने स्टूडेंट्स को करना होगा ये काम, जानिए किसने मारी बाजी?

 

 

बता दें कि शुक्रवार को छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल ने एग्जाम से जुड़े कंफ्यूजन दूर करने के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। इसमें विद्यार्थी, शिक्षक और पेरेंट्स सुबह 10.30 बजे शाम 5 बजे तक बात कर सकेंगे। इसके साथ ही टोल फ्री नम्बर 18002334363 जारी किया गया है। इस नंबर पर मनोचिकित्सक, मनोवैज्ञानिक, करियर काउंसलर स्टूडेंट्स को रिजल्ट के बाद किसी भी तरह की परेशानी पर बात करेंगे। अगली क्लास में विषयों के चयन के संबंध में बात कर सकेंगे।

बता दें कि पिछली बार कोरोना संक्रमण की वजह से दसवीं की परीक्षा नहीं हुई थी। असाइनमेंट के आधार पर रिजल्ट जारी किए गए थे। बारहवीं की परीक्षा भी छात्रों ने घर से दी थी। तब जहां छात्र पढ़ते थे, उन्हीं स्कूलों से परीक्षा के लिए आंसरशीट और प्रश्नपत्र का वितरण किया गया था। आंसर लिखने के बाद छात्रों ने संबंधित स्कूलों में ही कापियां जमा की। इस बार छात्रों को संबंधित सेंटर में जाकर पेपर लिखना था, जैसा परीक्षा का आम पैटर्न हुआ करता है।

Back to top button