टेस्ट क्रिकेट के भविष्य को लेकर ये क्या बोल गए युवराज सिंह, बताई पर्दे के पीछे की चौंकाने वाली सच्चाई…

मुंबई: क्या टेस्ट क्रिकेट का भविष्य खतरे में है? यह सवाल पिछले कई सालों से चर्चा का विषय बना हुआ है. दरअसल, फैंस के बीच टी-20 क्रिकेट की लोकप्रियता और दुनियाभर में लगातार नए-नए टी20 लीग को इसका कारण बताया जा रहा है. हालांकि, ज्यादातर पूर्व खिलाड़ियों का मानना है कि क्रिकेट के इस सबसे पुराने फॉर्मेट को टी20 से कोई खतरा नहीं है. टेस्ट क्रिकेट भविष्य में पूरी तरह से सुरक्षित है. अब इस सवाल पर टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह ने बड़ा बयान दिया है.

 

युवराज सिंह का मानना है कि मौजूदा वक्त में दर्शक टी20 क्रिकेट को ज्यादा पसंद कर रहे हैं. टेस्ट क्रिकेट का रोमांच कम हो रहा है. उन्होंने कहा कि आजकल लोग ज्यादा से ज्यादा टी20 क्रिकेट खेलना और देखना चाहते हैं. युवी ने कहा कि चूंकि टी20 क्रिकेट में पैसा ज्यादा है, इसलिए आज के जमाने के क्रिकेटर भी टी20 क्रिकेट की तरफ ही भाग रहे हैं. उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि आज के समय में क्यों कोई क्रिकेटर 5 लाख रूपए के लिए 5 दिनों तक खेलना चाहेंगे. जबकि टी20 क्रिकेट में कम वक्त में करोड़ों में पैसे मिल जाते हैं.

 

read more: IPL 2022 : इन 3 टीमों का प्लेऑफ में पहुंचना लगभग तय, चौथे स्थान के लिए इन टीमों के बीच है लड़ाई, जानें पॉइंट्स टेबल का समीकरण

युवराज सिंह ने कहा कि मौजूदा वक्त में बहुत सारे ऐसे खिलाड़ी हैं जो इंटरनेशनल लेवल पर नहीं खेल रहे हैं, लेकिन टी20 क्रिकेट खेलकर 7-10 करोड़ रूपए कमा रहे हैं. टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले ज्यादातर देशों की अपनी-अपनी टी20 लीग है. साथ ही युवी का मानना है कि जिस तरह से टी20 क्रिकेट फैल रहा है, उससे टेस्ट क्रिकेट ही नहीं बल्कि वनडे क्रिकेट को भी लोग कम पसंद कर रहे हैं. बताते चलें कि युवराज सिंह लगातार 6 गेंदों पर 6 छक्के लगाने वाले एकमात्र भारतीय खिलाड़ी हैं. वहीं, इसके अलावा टी20 वर्ल्ड कप 2007 और 50-50 वर्ल्ड कप 2011 में युवराज सिंह प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट चुने गए थे.

Back to top button