पखांजुर में पदस्थ कार्यपालन अभियंता केके साव को निलंबित, फर्जी टेंडर घोटाले को लेकर गिरी गाज

पखांजुर में पदस्थ कार्यपालन अभियंता केके साव को निलंबित, फर्जी टेंडर घोटाले को लेकर गिरी गाज

पखांजूर/ बिप्लब कुण्डू: पत्थलगांव बिजली विभाग में फर्जी टेंडर घोटाले कर खम्भे गाड़ने के आरोप में जांच उपरांत यहां पखांजुर में पदस्थ कार्यपालन अभियंता के के साव को निलंबित कर दिया गया है, सूत्रों के अनुसार के के साव के खिलाफ पत्तल गांव में यह कार्रवाई खम्भे लगाने हेतु निविदा प्रक्रिया में घोर लापरवाही बरतने पर की गई है मनचाहे ठेकेदार को टेंडर देने हेतु कार्यपालन यंत्री के द्वारा टेंडर प्रक्रिया की तमाम औपचारिकताएं पूर्ण करने के दौरान भारी लापरवाही बरती गई थी।

 

विदित हो कि पत्थलगांव क्षेत्र में फर्जी टेंडर से खंबे गाड़ने का मामला से संबंधित समाचार प्रकाशन के बाद मामला उजागर होने पर विभागीय स्तर पर इसकी जांच जांच पड़ताल शुरू की गई है इस मामले में फिलहाल पत्थलगांव के पूर्व डीई के के साव को दोषी पाया गया है जिस पर छत्तीसगढ़ स्टेट पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड के महाप्रबंधक रायपुर द्वारा यह कार्रवाई की करते हुए के के साव कार्यपालन अभियंता संभाग पंखाजूर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय कार्यालय कार्यपालक निदेशक जगदलपुर नियत किया गया है। यह कार्यपालन अभियंता ने पत्थलगांव में घोटाला किया उसके बाद पखांजुर में हुआ था पोस्टिंग अब पखांजुर से हुए निलंबित।

Back to top button