BPSC Exam 2022 के पेपर पत्र लीक के बाद आयोग का बड़ा फैसला, परीक्षाओं में होंगे ये बदलाव

67वीं बीपीएससी प्रारंभ‍िक परीक्षा को पेपर लीक के कारण कैंसल कर द‍िया गया. अब इस मामले की जांच बिहार के आर्थिक

रविवार को आयोजित हो रही 67वीं बीपीएससी प्रारंभ‍िक परीक्षा को पेपर लीक के कारण कैंसल कर द‍िया गया. अब इस मामले की जांच बिहार के आर्थिक अपराध इकाई की टीम को सौंप दी गई है. बिहार पुलिस मुख्‍यालय ने मामले की जांच साइबर सेल से कराने के लिए टीम एक्‍ट‍िव की दी है. रविवार को उच्‍च स्‍तरीय बैठक की गई, जिसमें आर्थिक अपराध इकाई के एसपी सुशील कुमार को जांच कमेटी की जिम्‍मेदारी सौंपी गई और आर्थिक अपराध इकाई के अपर पुलिस महानिदेशक नैयर हसनैन खां ने मामले की जांच करने के लिए 12 सदस्य की टीम का गठन किया.

READ MORE :ये हैं भारत के 5 सबसे लंबे और खूबसूरत पुल, जिन्हें देखने दूर-दूर से आते हैं टूरिस्ट, जानिए इनकी विशेषता

केंद्रों पर जैमर लगने से मोबाइल काम ही नहीं करेंगे और पेपर वायरल होने की संभावना नहीं होगी. साथ ही सीसीटीवी कैमरे का भी प्रबंध किया जाएगा. बीपीएससी की परीक्षाओं में जैमर का इस्तेमाल नहीं होता है. जिसके कारण पेपर लीक होने की संभावना बढ़ जाती है. इन सब के अलावा एग्जाम को एकेडमिक लेवल पर बदलाव किए जाएंगे. प्रत्येक जिले में परीक्षा केंद्र बनाए जाएंगे.

रिपोर्ट के मुताबिक, बीपीएससी के परीक्षा नियंत्रक अमरेन्द्र कुमार ने कहा है कि परीक्षाओं और भी कई बदलाव किए जाएंगे. इसपर फिलहाल विचार किया जा रहा है. यूपीएससी की परीक्षा पद्धति को लागू करने पर विचार किया जा रहा है.

बीपीएससी की की संयुक्त परीक्षा का पेपर पहली बार लीक हुआ है. बिहार के कई परीक्षाओं गड़बड़ी को लेकर सवाल उठते रहे हैं. हाल ही में बिहार बोर्ड की 10वीं की परीक्षा के पेपर लीक हो गया था. बिहार के शिक्षा प्रणाली पर सवाल उठने के बाद एग्जाम को लेकर बदलाव पर विचार किया जा रहा है.

उम्मीदवारों ने बताया कि एग्जाम केंद्र के दो ऐसे कमरे थे जो बंद थे. लेकिन वहां परीक्षार्थी बैठे हुए हैं.वे मोबाइल के साथ परीक्षा दे रहे थे.अलग कमरे में बैठाकर कुछ परीक्षार्थियों को मोबाइल के साथ एग्जाम दिलाया जा रहा था.बताया जा रहा है कि बीपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा का प्रश्न पत्र टेलीग्राम ग्रुप पर रविवार को वायरल हुआ था. छात्र इस मामले में सख्ती से जांच की मांग कर रहे हैं.

 

Back to top button