इंडियाताज़ा खबरपॉलिटिक्स

UP के लखीमपुर का मामला: हिंसा में मरने वालों की संख्या 9, मृतकों के परिवार को मिलेंगे 45 लाख

लखीमपुर। उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी में पिछले दिन हुई हिंसा में मरने वालों की संख्या 9 हो गई है। उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में तनातनी देखने को मिला। घटनास्थल पर जाने के लिए सपा प्रमुख अखिलेश यादव सड़क पर ही धरने पर बैठ गए। अखिलेश ने कहा कि किसानों पर अंग्रेजों के शासन से भी ज्यादा जुल्म भाजपा सरकार कर रही है। उन्होंने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के इस्तीफे और किसानों को 2-2 करोड़ का आर्थिक सहायता देने की भी मांग की।

इसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया।वहीं में घायल हुए लोगों को भी 10 लाख रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया गया है। सरकार और किसानों के बीच समझौता हो गया है। सरकार ने मृतकों के परिवार को 45 लाख रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया है। मरने वालों के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी। साथ ही घटना की न्यायिक जांच और 8 दिन में आरोपियों को अरेस्ट करने का वादा भी किया गया है। यह जांच हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज करेंगे।

प्रियंका गांधी ने झाड़ू लगाकर जताया विरोध

इधर, लखीमपुर जाते समय कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया। उन्हें सीतापुर के गेस्ट हाउस में रखा गया है। यहां प्रियंका गांधी ने गेस्ट हाउस के कमरे में झाड़ू लगाकर विरोध जताया। उनका यह वीडियो वायरल हो रहा है।
भीड़ ने पुलिस की गाड़ी जलाई इधर, अखिलेश के धरने से कुछ दूरी पर भीड़ ने पुलिस की एक जीप को आग के हवाले कर दिया है। पुलिस ने विपक्ष के कई नेताओं को लखीमपुर खीरी पहुंचने से रोकने के लिए उन्हें हाउस अरेस्ट कर लिया है। इनमें बसपा महासचिव सतीश मिश्र, कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी, सलमान खुर्शीद, आराधना मिश्रा और शिवपाल यादव शामिल हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को पुलिस सुबह ही हिरासत में ले चुकी है।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button