अवैध चौपाटी के संचालन से निगम को लाखों का राजस्व घाटा, दुकान लेने में लोग नहीं दिखा रहे दिलचस्पी

रायपुर : सुभाष स्टेडियम के बगल में सालों से अवैध चौपाटी का संचालन किया जा रहा हैं। जिसे हटाने के लिए निगम के आला अधिकारी किसी तरह के एक्शन में नहीं दिख रहे। निगम ने सालों पहले 20 करोड़ रुपये की लागत से बने सुभाष स्टेडियम में चार करोड़ की लागत से दुकानों का निर्माण कराया था ताकि इन्हें बेचकर राजस्व बढाया जा सके, लेकिन स्टेडियम के ठीक बाजू में 26 फीट की सड़क पर अवैध चौपाटी खुल जाने से 35 से 40 लाख रुपये की कीमत की दुकानें लेने कोई भी व्यापारी सामने नहीं आ रहे हैं इसके कारण दुकानें जर्जर होने लगी हैं।

वहीं भाजपा के पार्षदों ने पहले ही शहर के बाग-बगीचे और पार्कों में निजी कंपनी को चौपाटी खोलने का ठेका देने का विरोध किया था, बावजूद इसके ठेका देने का सिलसिला जारी है।

निगम के अपर आयुक्त सुनील कुमार चंद्रवंशी ने Newsplus 21 की टीम को बताया कि चौपाटी का संचालन अवैध रूप से किया जा रहा है। वहां मौजूद किसी भी दुकानदारों ने किसी से अनुमति नहीं ली है। इसके बावजूद चौपाटी का संचालन किया जा रहा है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि स्टेडियम में बने दुकानों को टेंडर प्रक्रिया द्वारा आवंटित किया जा रहा है। लेकिन इसे लेने के लिए लोग दिलचस्पी नहीं दिखा रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button