Happy Birthday लवलीना : जिन्होंने दिलाया ओलिंपिक में मेडल, पढिये उनकी story

स्पोर्ट्स | टोक्यो ओलिंपिक में भारत की ओर से नौ बॉक्सर्स ने हिस्सा लिया था. मैरीकॉम और अमित पंघाल जैसे दिग्गजों ने निराश किया लेकिन युवा बॉक्सर लवलीना (lovlina) बोरगोहेन ने यहां ऐतिहासिक प्रदर्शन करते हुए ब्रॉन्ज मेडल जीता. 69 किग्रा वेल्टर वेट केटेगरी के सेमीफाइनल में हार गईं लेकिन देश के लिए ब्रॉन्ज जीतने में कामयाब रहीं. आज यानि दो अक्टूबर को वह अपना 24वां जन्मदिन मना रही हैं.

READ MORE :  शाहरुख खान, जिसने करों या मरो मुकाबले में दिलायी Punjab को जीत

लवलीना (lovlina) के ओलिंपिक मेडल तक का सफर काफी खास रहा है. लवलीना असम के गोलाघाट जिले के बड़ा मुखिया गांव की रहने वाली हैं. 23 वर्षीय लवलीना का जन्म 2 अक्टूबर 1997 को हुआ था. लवलीना के पिता टिकेन बोरगोहेन एक बिजनेसमैन हैं और मां ममोनी हाउस वाइफ हैं. तीन बहनों में सबसे छोटी लवलीना बॉक्सिंग से पहले किकबॉक्सिंग किया करती थीं.

लवलीना (lovlina) बोरगोहेन के पिता उनके लिए एक दिन मिठाई लाए थे. मिठाई जिस अखबार में लपेटकर लाई गई थी लवलीना (lovlina) उसे पढ़ने लगीं तब पहली बार लवलीना ने मोहम्मद अली के बारे में पढ़ा और फिर बॉक्सिंग में उनकी रुचि बढ़ी. यहीं से उनके बॉक्सिंग के सफर की शुरुआत हुई. नौ साल पहले मुक्केबाजी में करियर शुरू करने वाली लवलीना दो बार विश्व चैम्पियनशिप ब्रॉन्ज मेडल भी जीत चुकी है. इसके अलावा उन्होंने 2017 और 2021 की एशियन चैंपियनशिप में भी ब्रॉन्ज मेडल जीता

प्राइमरी स्कूल में स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया के लिए ट्रायल हुए. यहां लवलीना पर नजर गई कोच पादुम बोरो की जिन्होंने उनका जीवन बदल दिया. उनकी मेहनत का ही नतीजा था कि पांच साल के अंदर लवलीना एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज जीतने में कामयाब रहीं. धीरे-धीरे वह आगे बढ़ती रहीं और देश की स्टार बॉक्सर्स में उनका नाम शुमार हो गया.

उनके लिए ओलिंपिक की तैयारी आसान नहीं थी. वह अपनी तैयारियों में इतनी व्यस्त थीं की नौ साल तक छुट्टी भी नहीं ले पाई, न ही उन्होंने घर का खाना खाया. वहीं कोरोना संक्रमण के कारण वह अभ्यास के लिए यूरोप नहीं जा सकीं. इसके अलावा उनकी मां की तबीयत खराब थी और पिछले साल उनका किडनी प्रत्यारोपण हुआ जब लवलीना दिल्ली में राष्ट्रीय शिविर में थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button