इस देश में हुई ईंधन की कमी, सड़कों पर चला चाक़ू

वर्ल्ड | प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (UK Prime Minister Boris Johnson) ने मंगलवार को ब्रिटेन की जनता को आश्वस्त करने की कोशिश करते हुए कहा कि देश में ईंधन आपूर्ति संकट की स्थिति में सुधार हो रहा है. हालांकि उनकी सरकार ने कहा कि स्थिति सामान्य होने में कुछ समय लगेगा.

जॉनसन (Boris Johnson) की सरकार ने गैसोलीन का वितरण करने और ईंधन की कमी (UK Fuel Crisis) को कम करने में मदद करने के लिए सैनिकों को तैयार रहने के लिए कहा है. यह संकट ट्रक चालकों की कमी की वजह से उत्पन्न हुआ है और सैकड़ों ईंधन स्टेशनों में गैस खत्म हो गई. लोगों को गैस के लिए लंबी लंबी कतारों में खड़ा होना पड़ा.

जॉनसन (Boris Johnson) ने एक टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘अब हम स्थिति में सुधार देख रहे हैं. स्थिति स्थिर हो रही है, लोगों को आश्वस्त होना चाहिए और सामान्य तरीके से अपने व्यवसाय पर जाना चाहिए.’ पेट्रोल रिटेलर्स एसोसिएशन ने भी कहा कि इस बात के ‘शुरुआती संकेत’ मिल रहे हैं कि ईंधन संकट समाप्त हो रहा है. यूके इस समय सबसे बड़े ईंधन संकट का सामना करने को मजबूर है.

देश के कई पेट्रोल पंप पर तेल और गैस पूरी तरह से खत्म हो चुकी है. इस नए संकट ने जॉनसन सरकार की मुसीबतों को और बढ़ा दिया है. इस संकट को दूर करने के लिए सरकार ने एक बड़ा निर्णय लिया है.

सरकार की तरफ से फैसला किया गया है कि वो पेट्रोल स्टेशनों पर ईंधन डिलीवरी को करने की मंजूरी देने के लिए ‘प्रतिस्पर्धा कानून’ को सस्पेंड करेगी. अधिकारियों ने कहा कि इस कदम से कंपनियों के लिए सूचनाओं को साझा करना और देश के सबसे ज्यादा जरूरत वाले हिस्सों को प्राथमिकता देना आसान हो जाएगा.

लंदन की सड़कों पर चली चाकू

फ्यूल सप्लाई में रुकावट आने के बाद लोगों ने घबराकर बड़ी मात्रा में पेट्रोल खरीदना शुरू कर दिया. इसके बाद पेट्रोल पंपों पर लंबी कतारें लगने लगीं. हालात इस कदर बिगड़ गए कि मंत्रियों ने ईंधन की डिलीवरी के लिए सेना को तैनात करने का विचार भी किया.

पेट्रोल रिटेलर्स एसोसिएशन ने चेतावनी दी है कि लगभग 5500 आउटलेट्स वाले इसके सदस्यों में से दो तिहाई सदस्यों के पास ईंधन खत्म हो गया है. इसने कहा कि बाकी के पेट्रोल पंप पर भी जल्द ही ईंधन खत्म होने वाला है. बता दें कि ब्रिटेन में कुल मिलाकर आठ हजार पेट्रोल स्टेशन हैं.

इस नए संकट के बाद लंदन की सड़कों पर कई जगह मारपीट की स्थिति पैदा हो गई है. पेट्रोल-डीजल के लिए लोग एक दूसरे के साथ हिंसा पर उतर आए हैं. कई जगहों पर तो चाकूबाजी की खबरें भी हैं. डेली मेल की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि इस संकट ने हालात बेकाबू कर दिए हैं. पुलिस और सुरक्षाबल को भी समझ में नहीं आ रहा है कि आखिर इसका हल क्‍या है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button