वर्ल्ड

ईएमपी मिसाइल : चीन ने बनाया ऐसा ख़तरनाक हथियार (Weapon), कर सकता है बिजली सप्लाई लाइन को ठप

वर्ल्ड | चीनी वैज्ञानिक एक ऐसा हाइपरसोनिक हथियार (Weapon) तैयार कर रहे हैं, जिसे हाई फ्रिक्वेंसी वाले इलेक्ट्रोमैग्नेटिक प्लस उत्पन्न करने के लिए डिजाइन किया गया है. ये एक ऐसा हथियार (Weapon) है, जो किसी भी क्षेत्र की संचार और बिजली सप्लाई लाइन को ठप कर सकता है. ये हथियार एक ईएमपी मिसाइल है, जिसकी रेंज 2,000 मील तक है और ये साउंड से छह गुना अधिक तेजी से ट्रैवल कर सकती है (China Hypersonic Bomber). इससे किसी भी शहर के ऊपर रासायनिक विस्फोट किया जा सकता है. जिससे वो कुछ सेकेंड में ही तबाह हो जाएगा.

बीजिंग स्थित चाइना अकैडमी ऑफ लॉन्च वैहिकल टेक्नोलॉजी के वैज्ञानिकों की टीम ने कहा कि इस हथियार से अंतरिक्ष में मौजूद अर्ली वार्निंग सिस्टम (Early Warning Systems) को भी चकमा दिया जा सकता है. शहर को निशाना बनाए जाने के बाद एक रासायनिक विस्फोट होता है. जो इलेक्ट्रिकली चार्ज्ड मैग्नेट को कंप्रेस कर देता है. इसे ‘फ्लक्स कंप्रेशन जनरेटर’ के नाम से जाना जाता है. फिर शॉक एनर्जी बेहद शक्तिशाली इलेक्ट्रोमैग्नेटिक पल्स (ईएमपी) में बदल जाती है.

इलेक्ट्रॉनिक उपकरण हो सकते हैं खराब

चीन के इंजीनियरिंग वैज्ञानिक सुन झेंग ने अपने सहकर्मियों के साथ टैक्टिकल मिसाइल टेक्नोलॉजी को लेकर एक जरनल लिखा है. इसमें इन्होंने कहा है, ‘यह महज 10 सेकेंड में 95 फीसदी तक ऊर्जा रिलीज कर सकता है. जो विद्युत चुंबकीय पल्स को नुकसान पहुंचाने में सक्षम है (China Developing a Hypersonic Weapon). इससे 2 किलोमीटर की रेंज में आने वाले किसी भी संचार नेटवर्क के जरूरी इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को खराब किया जा सकता है.’ ये एक्टिव स्टील्थ इलेक्ट्रोमैग्नेटिक पल्स हथियार एनर्जी रिजनरेशन पर आधारित हैं, जिनसे किसी भी युद्ध का रुख मोड़ा जा सकता है.

क्या है हथियार (Weapon) की सबसे बड़ी खूबी?

चीन के इस हथियार (Weapon) की सबसे बड़ी खूबी यही है कि जब इससे हमला किया जाएगा, तो दुश्मन को इस बारे में कुछ भी पता नहीं चलेगा. क्योंकि इसकी गति काफी तेज होगी (Does China Have Hypersonic Weapons). अमेरिका की खुफिया एजेंसी सीआईए (CIA) के एक पूर्व अधिकारी और नेशनल एंड होमलैंड सिक्योरिटी के लिए ईएमपी टास्क फोर्स के वर्तमान निदेशक पीटर प्राय ने चेतावनी देते हुए कहा, ‘चीन या तो हाइपरसोनिक हथियारों को तैनात कर चुका है या फिर ऐसा करने वाला है (China and Hypersonic Weapons). जो संभावित रूप से परमाणु या गैर-परमाणु ईएमपी वारहेड से लैस हो सकते हैं, इनसे हिंद-प्रशांत क्षेत्र में अमेरिकी सेना और अमेरिका के खिलाफ अचानक होने वाले हमले का खतरा बढ़ सकता है.’

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button