तूफान की गुलाबी (STORM GULAB) दस्तक, छत्तीसगढ़ में मौसम खुशगवार, ओडिशा में हल्की बारिश शुरू, दिल्ली-झारखंड सहित यहां भारी बारिश की संभावना

छत्तीसगढ़ में रविवार की शाम से मौसम खुशगवार हो गया है, आज सुबह से ठंडी लेकिन सामान्य से अधिक तेज हवाएं चल रही हैं, कई इलाकों में बूंदाबांदी से ले लेकर हलकी और तेज बारिश की ख़बरें आ रही हैं

  रायपुर. तूफ़ान गुलाब के रविवार शाम को बंगाल कीखाड़ी में टकराने के बाद इसका असर दिखना शुरू हो गया है। छत्तीसगढ़ में रविवार की शाम से मौसम खुशगवार हो गया है, आज सुबह से ठंडी लेकिन सामान्य से अधिक तेज हवाएं चल रही हैं, कई इलाकों में बूंदाबांदी से ले लेकर हलकी और तेज बारिश की ख़बरें आ रही हैं , मौसम विभाग ने सोमवार को राजधानी रायपुर में आसमान में बादल छाये रहने और हल्की बारिश होने अथवा बूंदा बांदी होने का अनुमान लगाया है. इधर आंध्र प्रदेश में तूफान गुलाब ने दस्तक दे दी है. ओडिशा में हल्की बारिश का दौर शुरू हो चुका है. झारखंड के दक्षिणी क्षेत्र और मध्य क्षेत्र में 29 और 30 सितंबर को भारी बारिश हो सकती है. क्यों कि तूफान गुलाब को असर ओड़िशा में दिखने लगा है.

दिल्ली का मौसम
मौसम विभाग ने सोमवार को राजधानी दिल्ली में आसमान में बादल छाये रहने और हल्की बारिश होने अथवा बूंदा बांदी होने का अनुमान लगाया है.अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 34 और 25 डिग्री सेल्सियस के आस पास दर्ज रहने का अनुमान है. विभाग ने सोमवार के लिये ‘हरी’ चेतावनी जारी की है जिसका मतलब होता है कि सब कुछ ठीक है.

पश्चिम बंगाल के दक्षिणी हिस्सों में भारी बारिश की संभावना
बंगाल की खाड़ी पर बन रहे कम दबाव के क्षेत्र की वजह से पश्चिम बंगाल के अधिकतर दक्षिणी जिलों में भारी बारिश होने का पूर्वानुमान है. मौसम विभाग (आईएमडी) ने बताया कि इलाके के कुछ जिलों में बुधवार को भारी बारिश होने की संभावना है. मौसम वैज्ञानिक ने बताया कि म्यांमा तट के करीब सोमवार को चक्रवाती क्षेत्र बन सकता है जिसके प्रभाव से अगले 24 घंटे में निम्नदाब का क्षेत्र विकसित होगा. उन्होंने बताया कि कोलकाता ,पूर्वी और पश्चिमी मिदनापुर, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, पूर्वी और पश्चिमी बर्द्धमान, हावड़ा, झारग्राम, बांकुड़ा और पुरुलिया जिलों के एक-दो स्थानों पर मंगलवार को भारी बारिश हो सकती है.

आंध्र प्रदेश: गुलाब तूफान से दो मछुआरों की मौत
आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम जिले के रहने वाले दो मछुआरों की रविवार शाम को बंगाल की खाड़ी में उठे ‘गुलाब’ तूफान की चपेट में आने से मौत हो गई जबकि एक अब भी लापता है. वहीं, तीन अन्य मछुआरे सुरक्षित तट पर आने में सफल रहे. इस बीच, भारत के मौसम विभाग (आईएमडी) ने जानकारी दी है कि तूफान ने तट पर दस्तक दे दी है.

गुलाब चक्रवात का प्रभाव ओडिशा में
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यहां कहा कि चक्रवात गुलाब के तट से टकराने की प्रक्रिया रविवार शाम से शुरू हो गई और यह करीब तीन घंटे तक जारी रही. इस प्रक्रिया ने आंध्र प्रदेश के कलिंगपट्टनम और ओडिशा के गोपालपुर के बीच के भूभाग को प्रभावित किया है.

मध्य प्रदेश के अधिकांश भागों में बारिश
मध्य प्रदेश के अधिकांश भागों में पिछले 24 घंटों के दौरान बारिश हुई और भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने अगले कुछ और दिनों तक प्रदेश में वर्षा होने का अनुमान जताया है. आईएमडी ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान भोपाल, होशंगाबाद, जबलपुर, ग्वालियर, सागर, उज्जैन एवं इंदौर संभागों के अनेक स्थानों और शहडोल, रीवा एवं चंबल संभागों के कुछ स्थानों पर वर्षा हुई. प्रदेश में मानसून का समय एक जून से शुरू होता है और 30 सितंबर तक खत्म हो जाता है। लेकिन इस बार 30 सितंबर के बाद भी बारिश होने की उम्मीद है.

झारखंड का weather
झारखंड के दक्षिणी (पूर्वी सिंहभूम, प सिंहभूम, सिमडेगा, सरायकेला-खरसांवा) तथा मध्य क्षेत्र (रांची, बोकारो, गुमला, हजारीबाग, खूंटी और रामगढ़) में 29 और 30 सितंबर को भारी बारिश हो सकती है. ऐसा बंगाल की खाड़ी में आ रहे तूफान गुलाब की वजह से हो रहा है. गुलाब तूफान का असर ओड़िशा में दिखने लगा. गोपालपुर में तूफान टकराया और बारिश शुरू हो गयी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button