दुनिया की पहली ई-बेबी (e-baby), इस महिला ने दिया जन्म, पढिये पूरी ख़बर

वर्ल्ड | आज के युग में कुछ भी असंभव नहीं है। मेडिकल के क्षेत्र में टेक्नालॉजी इतनी एडवांस हो गई है कि अब बस इशारा करने की देर है, और मनचाही वस्तु आपके पास होगी । दऱअसल ब्रिटेन में एक महिला ने अनोखा कारनामा कर दिखाया है। महिला की मानें तो उसने ई-बेबी (e-baby) को जन्म दिया है। महिला के मुताबिक उसने बिना रिलेशन बनाये बच्चा कंसीव किया है।

पुरूषों के साथ नहीं बनाना चाहती थी शारीरिक संबंध

महिला की दी गई जानकारी के मुताबिक वो अपने पति से अलग हो गई है। वो किसी मर्द के साथ शारीरिक संबंध भी नहीं बनाना चाहती, हालांकि वह बच्चे को जन्म देना चाहती थी। इसके लिए इस महिला ने ऑनलाइन स्पर्म मंगाया था। इस स्पर्म को उसने खुद ही ट्रीट किया, इसके बाद अब वो एक बच्चे की मां बन गई है।  महिला इसे ई-बेबी (e-baby) भी कह रही है।

बच्चे को कंसीव करने के लिए भिड़ाई जुगत

यह अनोखा मामला ब्रिटेन के ननथॉर्प में सामने आया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, यहां की 33 वर्षीय  स्टेफनी नाम की महिला का अपने हसबैंड से डिवोर्स  हो चुका है। इस लेडी और उसके हसबैंड का पहले से ही एक बेटा है। इस महिला को दूसरे बच्चे की ख्वाहिश थी, महिला का स्पष्ट मत था कि वह बच्चे को कंसीव करने के लिए किसी से शारीरिक संबंध नहीं बनाएगी। इसके बाद महिला ने काफी खोजबीन इस विषय को लेकर की, महिला ने इसके लिए कृत्रिम गर्भाधान टेक्नीक को अपनाने की ठानी।

बेबी ऐप के जरिए मंगाया स्पर्म

मीडिया रिपोर्ट के मानें तो इस महिला के पास अस्पताल से आईवीएफ करवाने लायक रकम नहीं थी। इसके बाद महिला ने लायब्रेरी, यूट्टूब से जानकारी खंगालना शुरू किया। महिला ने अपने दोस्तों से भी इस बारे में मदद ली।  स्टेफनी ने एक तरकीब निकाली, महिला ने एक बेबी ऐप के जरिए स्पर्म ऑर्डर किया। इसके साथ ही उसने एक इनसेमिनेशन किट भी मंगवाया।

कृत्रिम गर्भाधान टेक्नीक में किया ट्विस्ट

स्टेफनी ने स्पर्म बुक किया था,  स्पर्म डोनर खुद उनके घर तक आया और उन्हें स्पर्म दे गया । इसके बाद महिला ने इनसेमिनेशन किट की सहायती से उस स्पर्म को अपनी बॉडी में रिसीव किया। स्टेफनी की किस्मत अच्छी थी, उसने पहली ही कोशिश में बेबी कंसीव कर लिया, इसके तकरीबन 9 महीने में  महिला ने एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया।

स्टेफनी का कहना है कि ये एक मिरेकल है, यह एक प्रकार से ‘ऑनलाइन बेबी (e-baby)’ है। स्टेफनी  ने कहा कि अगर ये टेक्नालॉजी  नहीं होती तो वह मां नहीं बन सकती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button