पति ने नशे में बनाया अप्राकृतिक संबंध, मजिस्ट्रेट ने एफआईआर दर्ज करने का दिया आदेश

बहू को करते थे प्रताड़ित, निजी स्कूल के संचालकों के खिलाफ मामला दर्ज

रायपुर। राजधानी में जाने-माने एक निजी स्कूल के संचालकों के खिलाफ मजिस्ट्रेट ने एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है। मुख्य आरोपी अभिषेक त्रिपाठी स्कूल का डायरेक्टर हैं, पीड़ित महिला ने अपने पति, देवर और सास-ससुर पर मारपीट, गाली-गलौज के साथ जान से मारने की धमकी का आरोप लगाया है। पीड़ित महिला का आरोप है कि पति ने नशे में धुत होकर उनसे जबरदस्ती अप्राकृतिक संबंध बनाया, और होश में आने क्वे बाद उसे किसी को नहीं बताने के लिए जान से मरने की धमकी भी दी. पीड़िता पुलिस के पास गई थी लेकिन वहां उसकी सुनवाई नहीं हुई. तंग होकर पीड़िता ने कोर्ट की शरण ली।
पहुंच के चलते नहीं हुई रिपोर्ट दर्ज
अभिषेक त्रिपाठी स्कूल के डायरेक्टर है व उनके भाई निशांत त्रिपाठी एसएसआईपीएमटी डायरेक्टर हैं। पीड़ित महिला के अधिवक्ता ठाकुर आनंद मोहन सिंह ने बताया कि महिला ने आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के लिए पुलिस थाना गई थी, मगर आरोपियों की ऊंची पहुँच के चलते पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं की। इसके चलते पीड़ित महिला अपने साथ बीती घटना को न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया।
बहू ने इन सभी बातों की शिकायत
बहू ने शिकायत में कहा है कि उसके साथ मारपीट, गाली-गलौच किया जाता था। साथ ही महिला ने आरोप सिद्ध करने के लिए जान से मारने की धमकी व अवैध वसूली कर पैसा उगाही करने सहित दहेज के लिए प्रताड़ित करने के सबूत कोर्ट में प्रस्तुत किए। अधिवक्ता ठाकुर ने बताया कि महिला को त्रिपाठी परिवार लंबे अरसे से मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताड़ित कर रहा था। इतना ही नहीं महिला के साथ अप्राकृतिक तरीके को अपनाते हुए शारीरिक संबंध भी बनाया गया है। इस बात को गंभीर अपराध मानते हुए मजिस्ट्रेट आरती ठाकुर ने तत्काल आनंद त्रिपाठी, उनकी पत्नी स्नेहलता त्रिपाठी सहित दोनों पुत्र अभिषेक व निशांत त्रिपाठी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए आदेशित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button