लाइफ स्टाइल

घर बैठे चलेगा Lungs cancer का पता ; करे ऐसा

कैंसर रिसर्च यूके (UK) के मुताबिक, फिंगर क्लबिंग टेस्ट में उंगलियों और नाखूनों में सूजन या बहुत ज्यादा मुलायमपन खतरे के संकेत हो सकते हैं. ये आपकी सेहत के बारे में काफी कुछ बता सकता है. खासतौर से फेफड़े या दिल से जुड़ी बीमारियां जैसे कैंसर या मेसोथेलियोमा के बारे में इससे पता लग सकता है. रिपोर्ट के मुताबिक, नॉन-स्मॉल सेल लन्ग कैंसर (Lungs cancer )वाले करीब 35 प्रतिशत लोगों ने इसका अनुभव किया है.

एक आसान से फिंगर टेस्ट से फेफड़ों में कैंसर के शुरुआती लक्षणों को पहचाना जा सकता है. यह दावा ‘कैंसर रिसर्च यूके’ नाम की एक संस्था ने किया है. यह टेस्ट कोई भी इंसान घर बैठे कर सकता है. इस फिंगर क्लबिंग टेस्ट के जरिए आप खुद ही फेफड़ों में कैंसर के लक्षण का पता लगा सकते हैं.

संस्था की तरफ से यह दावा भी किया गया कि थाइरॉयड या अल्सरेटिव कोलाइटिस से पीड़ित लोगों में भी ये पाया जा सकता है. रिपोर्ट में इस विंडो गैप टेस्ट को करने का तरीका भी बताया गया है.

 ऐसे करे टेस्ट !

यह विंडो टेस्ट करने के लिए हाथ के एक अंगूठे और दूसरे हाथ की इंडेक्स फिंगर को नाखून की तरफ से आपसे में जोड़ें. अंगूठे और उंगली के आपस में चिपकने के बाद आपको बीच में डायमंड की आकृति नजर आएगी. अगर आपको डायमंड की शेप नहीं आ रही तो मामला गंभीर हो सकता है. इसके लिए आपको तुरंत डॉक्टर से जांच करवानी चाहिए.

रिपोर्ट के मुताबिक, फिंगर क्लबिंग को डेवलप होने में कुछ साल भी लग सकते हैं. हालांकि ये फेफड़ों में कैंसर की समस्या में जल्दी सामने आ सकता है. अपनी ऑफिशियल वेबसाइट के एक पोस्ट में कैंसर रिसर्च यूके ने कहा, ‘फिंगर क्लबिंग असामान्य है. आपको ये दिक्कत दिखाई दे रही है तो डॉक्टर से संपर्क करने में बिल्कुल देरी ना करें.’ डॉक्टर आपके फेफड़े या दिल की जांच के लिए चेस्ट एक्स-रे कराने की सलाह दे सकते हैं.

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button