वर्ल्ड

बैठक के दौरान दो समूहों में हुई भिडंत, गोलीबारी (firing) में 9 लोगों की मौत

वर्ल्ड | पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में जिरगा बैठक के दौरान दो समूह आपस में भिड़ गए और फिर एक दूसरे पर गोलियां (firing in pakistan) बरसा दीं. इस घटना में नौ लोगों की मौत हो गई, जबकि छह अन्य लोग घायल हो गए. मरने वालों में स्थानीय परिषद के दो सदस्य भी शामिल हैं. अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी. उन्होंने बताया कि जिरगा बैठक  ऊपरी दीर जिले के वेरावल बंदगाई गांव में हो रही थी. इस दौरान ये घटना सामने आई.

जिरगा बैठक गांव के बुजुर्गों की एक पारंपरिक असेंबली होती है, जिसमें पश्तूनवली की सीख के आधार पर विवादों का समाधान किया जाता है. विवाद जमीन और फीडर रोड के निर्माण को लेकर था. अधिकारियों ने कहा कि दोनों समूहों का नेतृत्व अमीर बाचा और बख्त आलम के परिवारों द्वारा किया जा रहा था. बैठक के दौरान दोनों पक्षों के बीच तीखी बहस हो गई, जिसके बढ़ने पर दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर गोलियां (firing in pakistan) बरसाना शुरू कर दिया. इस घटना में एक समूह के सात लोगों और दो जिरगा सदस्यों की मौत हो गई. वहीं, छह लोग गोली लगने से घायल हो गए, जिसमें से दो की स्थिति नाजुक बनी हुई है.

गोलीबारी (firing in pakistan) करने वाला आरोपी घटनास्थल से फरार हो गया. मृतकों और घायलों को दीर खास के जिला मुख्यालय अस्पताल में ले जाया गया. इस घटना से स्थानीय लोगों में हड़कंप मच गया. सैकड़ों लोग मृतकों के शवों को दीर-पेशावर रोड पर ले गए और फिर उन्होंने ट्रैफिक जाम कर दिया. लोगों ने पुलिस से आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार करने और उनकी बंदूकें जब्त करने की मांग की. हालांकि पाकिस्तान के कबायली इलाकों में विवादों को सुलझाने के लिए जिरगा बैठकें सबसे आम तरीकों में से एक है. लेकिन अक्सर ही इन बैठकों में हिंसा होने लगती है. यही वजह है कि इस तरह की आधा दर्जन घटनाएं अकेले इस साल दर्ज की गई हैं.

इससे पहले, पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा में पिछले हफ्ते ही शिविर के रास्ते को लेकर हुए विवाद में महिला सहित एक ही परिवार के पांच सदस्यों की मौत हो गई, जबकि तीन अन्य घायल हुए. पुलिस ने बताया कि कोहाट जिले के गमकोल अस्थायी शिविर में ये घटना तब हुई, जब शिविर के मार्ग को लेकर रिश्ते के दो भाइयों के परिवार में विवाद हो गया.पुलिस ने बताया, बहस उस समय हिंसक हो गई जब रिश्ते के एक भाई ने दूसरे भाई के परिवार पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दीं, जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हुए. दोनों परिवारों के बीच विवाद को सुलझाने के लिए कई बार मेल-मिलाप करने की कोशिश भी की गई थी.

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button