मेडिकल इमरजेंसीemergency के नाम पर 23 लाख की ठगी, ऐसे आया आरोपी गिरफ्त में

अंतर्राज्यीय गिरोह ने ठगी की रकम 2 दर्जन खातों में किया ट्रांसफर

रायपुर। राजधानी के सिविल लाईन के पास स्थित बैक से मेडिकल इमरजेेेेंसी के नाम पर लाखों रूपए की ठगी करने का मामला सामने आया है। उत्तरप्रदेश बरेली जिले के एक अंतर्राज्यीय गिरोह ने इस घटना को अंजाम दिया है। हालांकि पुलिस ने आरोपी को बरेली से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आई.डी.बी.आई. बैंक में फोन कर गिरोह के सदस्य द्वारा स्वयं को बैद स्टील प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का खाताधारक बताकर ठगी की गई।

ऐसे हुई ठगी
सिविल लाईन थाना से मिली जानकारी के अनुसार प्रार्थी रवि शेखर सिंह आई.डी.बी.आई. बैक लिमिटेड में संचालक प्रबंधक के पद पर पदस्थ है। बैद स्टील प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में मंजू बैद, सोनल बैद, संयम बैद, श्रेयांश बैद के नाम से बैक शाखा में चालू खाता है। विगत दिनों आरोपी ने मोबाईल नंबर से बैंक प्रबंधन के मोबाईल नंबरों पर फोन कर स्वयं को संयम बैद बताकर मेडिकल इमरजेंसी के नाम से 23,31,955 रूपये का अनाधिकृत ट्रांजक्शन किया गया। वहीं प्रार्थी को ठगी की भनक लगने पर तत्काल सिविल लाईन थाना में अज्ञात आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।

ऐसे गिरफ्त में आया आरोपी
पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल के दिशा निर्देश पर सायबर सेल एवं थाना सिविल लाईन की संयुक्त टीम बनाई गई, जहां उक्त घटना के संबंध में प्रार्थी, बैंक मैनेजर सहित कार्यरत अन्य कर्मचारियों से विस्तृत पूछताछ की गई। वहीं टीम द्वारा मोबाईल नंबर की तकनीकी विश्लेषण करने के साथ ही जिन बैंक खातों में रकम स्थानांतरित किए गए थे, उनसे संबंधित बैंकों से जानकारी व दस्तावेज प्राप्त किया गया। इसी दौरान आरोपी मोह शानू निवासी बरेली (उ.प्र.) के संबंध में जानकारी प्राप्त हुई जिस पर टीम द्वारा आरोपी को बरेली से पकड़ा गया। पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि वह ठगी की रकम को प्राप्त करने के लिए फर्जी खाते खुलवाने का काम कर रहा था। वहीं पुलिस ने आरोपी के पास से एक मोबाईल जब्त किया है, साथ ही इस घटना में संलिप्त अन्य आरोपियों की तलाश जारी है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button