एस्ट्रोलोजी

भाद्रपद पूर्णिमा (Purnima) आज, जानिये कैसे मिलेगा माता लक्ष्मी का आशीर्वाद

भादों मास में पड़ने वाली पूर्णिमा को भाद्रपद पूर्णिमा (Bhadrapada Purnima) कहते हैं.

एस्ट्रोलोजी | हिंदू धर्म में पूर्णिमा तिथि का विशेष महत्व होता है. भादों मास में पड़ने वाली पूर्णिमा को भाद्रपद पूर्णिमा (Bhadrapada Purnima) कहते हैं. इस महीने की पूर्णिमा (Purnima) तिथि से श्राद्ध शुरू हो जाते हैं. आज भादों मास की भाद्रपद पूर्णिमा है. इस दिन चंद्रमा 16 कलाओं से परिपूर्ण होता है. इस दिन चंद्रमा को अर्घ्य दिया जाता है और भगवान सत्यनारायण की पूजा होती है. पूर्णिमा (Purnima) के दिन सुबह 05 बजकर 28 मिनट से शुरू होगा जिसका समापन 21 सितंबर 2021 को सुबह 05 बजकर 24 मिनट पर होगा.

भादों मास में पूर्णिमा (Purnima) के दिन पवित्र नदी में स्नान करना बहुत शुभ होता है. इस दिन भगवान सत्यनारायण की पूजा और व्रत रखने वालों के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं. इस दिन विशेष उपायों को करने से आपके घर की सभी परेशानियां जल्द दूर हो जाएगी.

शास्त्रों के अनुसार, पूर्णिमा (Purnima) के दिन पीपल के पेड़ की पूजा करना शुभ होता है. मान्यता है कि इस दिन सुबह- सुबह पीपल के पेड़ में धूप- दीप और फूल अर्पित करना चाहिए. ऐसा करने से माता लक्ष्मी का आशीर्वाद मिलेगा और आपकी सभी परेशानियां दूर हो जाएगी.

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button