वर्ल्ड

76वीं संयुक्‍त राष्‍ट्र (United Nations) महासभा, इन मुद्दों पर होगी चर्चा

कई बड़े नेता रहेंगे मौजूद

दुनिया | अफगानिस्‍तान (Afghanistan) में मची उथल-पुथल और फ्रांस-ऑस्‍ट्रेलिया (France-Australia) के बीच तनाव के बीच ही आज से न्‍यूयॉर्क (New York) स्थित यूनाइटेड नेशंस (United Nations) हेडक्‍वार्ट्स पर 76वीं संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा (United Nations General Assembly, UNGA) का आगाज होगा.

इस बार UNGA बहुत ही खास होगा. एक तरफ अफगानिस्‍तान में अमेरिकी सेनाओं के जाने के बाद उथल-पुथल मची है तो दूसरी ओर इसी महासभा के दौरान क्‍वाड देशों की मीटिंग भी होगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, ऑस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्‍कॉट मॉरीसन और जापान के प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा शुक्रवार को इस मीटिंग में एक-दूसरे से रूबरू होंगे.

इन मुद्दों पर होगी चर्चा

  • 76वीं महासभा में इस बार कोविड-19 वैक्‍सीनेशन और क्‍लाइमेट चेंज भी सबसे बड़ा मुद्दा होने वाला है.
  • पिछले वर्ष महामारी की वजह से महासभा का आयोजन वीडियो लिंक के जरिए किया गया था.
  • 27 सितंबर को महासभा का समापन हो जाएगा. महामारी के चलते इस बार इसमें शामिल होने वाले नेताओं की संख्या कम रहेगी.
  • मुख्‍य हॉल में भी प्रतिनिधिदल के बस 4 सदस्‍यों को ही बैठने की मंजूरी दी गई है. इस बार महासभा में 100 से ज्‍यादा वर्ल्‍ड लीडर्स के हिस्‍सा लेने की उम्‍मीद है.
  • अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडेन के अलावा, यूके के प्राइम मिनिस्‍टर बोरिस जॉनसन, टर्की के राष्‍ट्रपति रेसेप तैयप एर्डोगान, ब्राजील के राष्‍ट्रपति जैर बोलसोनारो महासभा में शामिल होंगे.
  • रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादीमिर पुतिन, चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग, फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुलए मैंक्रो और ईरान के नए राष्‍ट्रपति इब्राहीम रईसी के इसमें शामिल नहीं होंगे.
  • क्‍लाइमेट चेंज पर चर्चा होगा और यूके के पीएम जॉनसन दुनिया से कड़े कदम की अपील करते हुए नजर आएंगे.
  • इस वर्ष नवंबर में यूके के ग्‍लासगो में यूएन क्‍लाइमेट समिट का आयोजन होना और ऐसे में उनका दौर काफी अहम माना जा रहा है.
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button