बड़े काम की होती है छोटी सी इलायची (Cardamom), जानिये कितनी तरह के बीमारियों से है बचाती

छोटी हरी इलायची में ढेरों औषधीय गुण पाए जाते हैं.

रायपुर | छोटी सी इलायची (Cardamom) बड़े काम की होती है. इसमें ढेरों औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो हमें कई तरह के रोगों से बचाते हैं. इलायची (Cardamom) दो तरह की होती है, लेकिन आज हम आपसे छोटी वाली हरी इलायची (Cardamom) के बारे में बात करेंगे. इसमें विटामिन बी-6 और सी, आयरन, मैगनीशियम, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल, फाइबर, पोटैशियम, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम आदि तमाम पोषक तत्व पाए जाते हैं.

यदि सामान्य पानी की जगह इलायची (Cardamom) का पानी पीया जाए तो, इस पानी के पोषक तत्वों काफी हद तक बढ़ जाते हैं और शरीर की कई रोगों से हिफाजत करते हैं. आइए जानते हैं कि इलायची के पानी के क्या फायदे हैं और इस पानी को कैसे तैयार किया जाए.

हाई बीपी

आज के समय में हाई बीपी एक कॉमन समस्या बनती जा रही है. तनाव बढ़ने की वजह से हाई बीपी के मरीज लगातार बढ़ रहे हैं. अगर आप नियमित रूप से इलायची का पानी पिएं तो  आपकी ये समस्या काफी हद तक नियंत्रित रहती है और दिल की तमाम बीमारियों से बचाव होता है.

कोलेस्ट्रॉल कम करती

गलत खानपान की वजह से शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल इकट्ठा होने लगता है. इलायची शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को सुधारने में मददगार मानी जाती है. साथ ही इससे शरीर में खून के थक्के बनने का खतरा कम होता है.

कैंसर से करे बचाव

कुछ शोध बताते हैं कि छोटी सी इलायची के पानी में मौजूद पोषक तत्व व एंटी-ऑक्सीडेंट्स गुण व्यक्ति को कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी के जोखिम से बचाने का काम करते हैं. लेकिन इस पानी को नियमित रूप से पीना होगा.

सांस की समस्याओं में उपयोगी

सांस के रोगियों के लिए इलायची का पानी काफी अच्छा माना जाता है. इसमें मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी माइक्रोबियल और एंटी इंफ्लेमेंट्री पोषक तत्व कई तरह के संक्रमण से बचाव करते हैं. अस्थमा के रोगियों के लिए भी इलायची का पानी काफी कारगर है.

पाचन तंत्र करती दुरुस्त

भोजन के कुछ देर बाद यदि इलायची का पानी पीया जाए तो पाचन तंत्र दुरुस्त होता है. गैस की समस्या काफी हद तक नियंत्रित हो जाती है. वहीं इलायची का सेवन करने से दांतों की कैविटीज की समस्या दूर होती है.

ऐसे बनाएं इलायची का पानी

पांच इलायची को रा​तभर एक गिलास पानी में छीलकर और कूटकर भिगोएं. सुबह इस पानी को उबालें. फिर गुनगुना रहने पर पीएं. इस पानी को दिन में कम से कम दो से तीन बार पीने पर इसका पूरा लाभ मिलता है. ऐसे में आप सुबह पानी पीने के बाद दोनों टाइम खाने के आधे घंटे बाद इसे पी सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button