आओ चैट करें , मानसिक स्वास्थ्य पर रेडियो वर्कशॉप (radio workshop) आयोजित

मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने रखी अपनी बात

रायपुर. बदलती जीवन शैली से उपजे तनाव और प्रतिस्पर्धा की भावना और कोविड महामारी ने लोगों के मानसिक स्वास्थ्य पर असर डाला है। कोविड महामारी के दौरान मानसिक स्वास्थ्य के महत्व को सभी ने समझा है क्यों कि महामारी की वजह से डर, चिंता, अवसाद और तनाव से हर व्यक्ति जूझ रहा है। मानसिक अवसादग्रस्त व्यक्ति आत्महत्या तक कर बैठता है।

इसलिए आज ऐसे व्यक्तियोें की पहचान कर उनकी काउंसिलिंग की बहुत जरूरत है उक्त विचार ऑल इंडिया रेडियो के मधुकर उपाद्य़ाय ने व्यक्त की। स्थानीय होटल में फ्रेया डेवलपमेंट फाउंडेशन एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की छत्तीसगढ़ के मानसिक(Mental) स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत आओ चैट करें रेडियो वर्कशॉप का आयोजन किया गया ।

आयोजित कार्यक्रम में रेडियो जॉकी और प्रोफेशनल्स के अलावा आकाशवाणी, जिला मानसिक(Mental) स्वास्थ्य कार्यक्रम रायपुर, मीडिया प्रतिनिधियों एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लेकर मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं और आत्महत्या विषय पर मंथन कर लोगों को उपरोक्त विषय पर जागरूक करने के साथ-साथ उनकी समस्याओं के निदान के लिए राज्यस्तरीय प्रयास करने पर बल दिया। कार्यक्रम में राज्य मानसिक(Mental) स्वास्थ्य कार्यक्रम नोडल अधिकारी डॉ़. महेन्द्र सिंह, डॉ. सुमी जैन, उपसंचालक एनसीडी डॉ. एसके पामपोई, आनंद साहू , मेडिकल कॉलेज की मनोरोग विशे्षज्ञ डॉ. सुरभी दुबे, सीएफआर की आरती धर एवं प्रदीप मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button